वाशिंगटन, 3 अप्रैल . अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सोमवार को गाजा में इजराइली हमले में मारे गए एक अमेरिकी सहित वर्ल्ड सेंट्रल किचन (डब्ल्यूसीके) के सात कार्यकर्ताओं की मौत पर नाराजगी और दुख जताया है.

मंगलवार को एक बयान में बाइडेन ने कहा,”युद्ध के बीच भूखे लोगों को भोजन उपलब्ध करा रहे कार्यकर्ताओं की मौत एक त्रासदी है.”

सोमवार को इजरायली हमले में मारे गए डब्ल्यूसीके कार्यकर्ता ऑस्ट्रेलिया, पोलैंड, यूके, अमेरिका और कनाडा के दोहरे नागरिक और फिलिस्तीन से थे.

डब्ल्यूसीके ने एक बयान में बताया कि उसके कार्यकर्ताओं पर तब हमला किया गया, जब वे दीर अल-बलाह गोदाम में समुद्री मार्ग से गाजा के लिए लाई गई 100 टन से अधिक खाद्य सामग्री उतार कर बाहर आ रहे थे.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, “इजराइल ने वादा किया है कि वह सहायता कर्मियों के वाहनों पर हवाई हमले की गहराई से जांच कराएगा. राष्ट्रपति ने कहा कि हमले की जवाबदेही तय की जानी चाहिए और दोषियों को सजा मिलनी चाहिए.”

उन्होंने कहा,”इससे भी अधिक दुखद बात यह है कि ये कोई अकेली घटना नहीं है. इसके पहले भी इस तरह की घटनाएं हो चुकी हैं. बाइडेन ने कहा कि इज़राइल ने नागरिकों की मदद कर रहे सहायता कर्मियों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाए हैं.”

बाइडेन ने कहा कि अमेरिका गाजा में फिलिस्तीनी नागरिकों की सहायता के लिए हर संभव प्रयास करेगा.”

/