स्वाति मालीवाल पर आप ने साधी चुप्पी

Photo of author

लखनऊ, 16 मई . दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए स्वाति मालीवाल का मामला गले की हड्डी बनता जा रहा है.

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ यहां एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में गुरुवार को मालीवाल के मुद्दे पर प्रश्न पूछे जाने पर केजरीवाल ने बिना कोई जवाब दिये माइक आप सांसद संजय सिंह के सामने खिसका दिया.

सिंह ने मामले पर सीधे कोई जवाब दिये बिना बात विरोध-प्रदर्शन कर रही महिला पहलवानों के समर्थन के दौरान मालीवाल के साथ दिल्ली पुलिस की बदसलूकी की तरफ मोड़ दी. वह मालीवाल के साथ उनकी बैठक और आगे की कार्रवाई के बारे में पूछे गये सवालों को टाल गये.

हालांकि, उन्होंने कहा कि भाजपा को मणिपुर में महिलाओं पर किये गये अत्याचार, प्रज्वल रेवन्ना के सेक्स स्कैंडल, महिला पहलवानों की प्रताड़ना और हथरस तथा उन्नाव की घटनाओं पर भी जवाब देने चाहिये.

दिल्ली महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने 13 मई को आरोप लगाया था कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आधिकारिक आवास पर उनके निजी सचिव विभव कुमार ने उनके साथ बदसलूकी की थी.

घटना मुख्यमंत्री आवास के भीतर होने और उनके निजी सचिव का नाम इसमें शामिल होने के कारण विपक्ष को अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मोर्चा खोलने के लिए बड़ा हथियार मिल गया. भाजपा को तो राजनीतिक रोटी सेंकने का मौका मिला ही है, इस घटना से कई अहम सवाल भी पैदा हुए हैं.

सबसे प्रमुख सवाल है, इस मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की चुप्पी. कुमार के कथित व्यवहार के पीछे की वजह अब तक सार्वजनिक नहीं है. इसके अलावा, मुख्यमंत्री, जो उस समय घर पर मौजूद थे, ने घटना के समय या घटना के बाद हस्तक्षेप क्यों नहीं किया, यह भी स्पष्ट नहीं है.

महिला अधिकारों की अग्रणी सेनानी की छवि वाली मालीवाल की चुप्पी मामले को और पेंचीदा बना रही है.

आश्चर्यजनक रूप से सपा अध्यक्ष ने आप नेताओं को अपने साथ मंच पर जगह दी, लेकिन केजरीवाल और उनके साथियों के पास उत्तर प्रदेश की जनता को बताने के लिए कुछ भी नया नहीं था. केजरीवाल ने एक बार फिर दोहराया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 75 साल की उम्र में संन्यास ले लेंगे और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह नये प्रधानमंत्री बनेंगे.

उन्होंने एक बार फिर दावा किया कि यदि भाजपा चुनाव जीतती है तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी हटा दिया जाएगा, और आरक्षण की व्यावस्था समाप्त कर दी जाएगी.

केजरीवाल ने उत्तर प्रदेश के लोगों से ‘इंडिया’ ब्लॉक के उम्मीदवार को जिताने की अपील की और संवाददाता सम्मेलन से चले गये.

अखिलेश यादव ने मालीवाल के मुद्दे पर कुछ भी नहीं कहा और सिर्फ भाजपा पर आक्रमक रहे. उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद भाजपा के नेता झूठ का विश्वविद्यालय शुरू कर देंगे. उन्होंने कहा कि देश की आबादी 140 करोड़ है लेकिन भाजपा लोकसभा चुनाव में 140 सीटें भी नहीं जीत सकेगी.

एकेजे/