पांचवीं नवरात्रि स्कंदमाता की इस विधि से करें पूजा नोट कर लें शुभ मुहूर्त

नई दिल्ली (New Delhi) . हिंदू धर्म में नवरात्रि का बहुत अधिक महत्व होता है. 7 अक्टूबर से नवरात्रि के पावन पर्व की शुरुआत हो गई है. नवरात्रि का पर्व नौ दिनों तक बड़े ही धूम- धाम से मनाया जाता है. नवरात्रि के नौ दिनों में मां के नौ रूपों की पूजा- अर्चना की जाती है. 10 अक्टूबर को पांचवीं नवरात्रि है. नवरात्रि के पांचवे दिन मां के पंचम स्वरूप माता स्कंदमाता की पूजा- अर्चना की जाती है. मां अपने भक्तों पर पुत्र के समान स्नेह लुटाती हैं. मां की उपासना से नकारात्मक शक्तियों का नाश होता है. मां का स्मरण करने से ही असंभव कार्य संभव हो जाते हैं. जय तेरी हो स्कंद माता, पांचवा नाम तुम्हारा आता
सब के मन की जानन हारी, जग जननी सब की महतारी
तेरी ज्योत जलाता रहूं मैं, हरदम तुम्हे ध्याता रहूं मैं
कई नामो से तुझे पुकारा, मुझे एक है तेरा सहारा
कहीं पहाड़ों पर है डेरा, कई शहरों में तेरा बसेरा
हर मंदिर में तेरे नजारे गुण गाये, तेरे भगत प्यारे भगति
अपनी मुझे दिला दो शक्ति, मेरी बिगड़ी बना दो
इन्दर आदी देवता मिल सारे, करे पुकार तुम्हारे द्वारे
दुष्ट दत्य जब चढ़ कर आये, तुम ही खंडा हाथ उठाये
दासो को सदा बचाने आई, चमन की आस पुजाने आई.

Check Also

ममता बनर्जी और उनकी पार्टी बीजेपी की बी टीम की तरह काम करती : अधीर रंजन चौधरी

नई दिल्‍ली . लोकसभा (Lok Sabha) में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने पश्चिम …