माता के जयकारों के साथ कामगार शुरू करते हैं खदानों में काम

उदयपुर (Udaipur). जावर माता मंदिर प्रागंण में नवरात्र स्थापना के साथ बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का आना शुरू हो गया है. उदयपुर (Udaipur)- अहमदाबाद (Ahmedabad) राष्ट्रीय राजमार्ग टीड़ी स्टैण्ड से दो किलो मीटर एवं जिंक नगरी जावर माइंस से सात किलो मीटर दूरी पर गिर्वा तहसील अधीन जावर पंचायत में टीड़ी नदी के तट पर माता का भव्य मंदिर स्थित है.

जावर माता शक्ति पीठ पर सदियों से चली आ रही परम्परा अनुसार नवरात्र स्थापना पर घठ स्थापना व नौ दिनों तक नव चण्डी पाठ, यज्ञ हवन का आयेाजन किया जाता है. नवरात्र में जावर माइंस की खदानों व पंचायत का विशेष योगदान रहता है. सरपंच प्रकाश चन्द्र ने बताया कि जिंक में कार्यरत कामगार प्रति दिन माता के नाम के जयक ारों के साथ ही अपना कार्य शुरू करते हैं. प्रत्येक रविवार (Sunday) को मंदिर प्रांगण में मेले जैसा माहोल रहाता है.

मन्नत पूरी होने वाले परिवारों द्वारा बड़ी संख्या में प्रसादी कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं. लोक कथा व ग्रामीणों के अनुसार माता की मूर्ति को किसी ने विराजित नहीं किया है. नवरात्र के अवसर पर कोरोना गाइड लाइन की पालना करते हुए दर्शन व्यवस्था की गई है. मंदिर का भव्य डेकोरेशन किया गया.

Check Also

वल्र्ड एनेस्थेसिया डे पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित

उदयपुर (Udaipur). पेसिफिक इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (पिम्स हॉस्पिटल), उमरड़ा द्वारा वर्ल्‍डएनेस्थेसिया डे पर जागरूकता फैलाने …