40वें वैज्ञानिक अभियान की वापसी के साथ भारत ने अंटार्कटिक में वैज्ञानिक प्रयासों के चार सफल दशक पूरे किए

नई दिल्ली (New Delhi) . पृथ्‍वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा आयोजित अंटार्कटिक के लिए 40वां वैज्ञानिक अभियान स्‍टॉपओवरों सहित 94 दिनों में 12,000 नॉटिकल माइल की यात्रा पूरी करने के बाद 10 अप्रैल, 2021 को सफलतापूर्वक केपटाउन में लौट आया. इस उपलब्धि में शांति और सहयोग के महाद्वीप में भारत के वैज्ञानिक प्रयासों के चार सफल दशक शामिल हैं. 40-आईएसईए में भारतीय वैज्ञानिक, इंजीनियर, डॉक्‍टर तथा टेक्‍नीशियन शामिल थे, जिन्‍होंने 07 जनवरी, 2021 को गोवा के मोर्मुगाव बंदरगाह से अंटार्कटिक की यात्रा शुरू की. टीम 27 फरवरी, 2021 को भारती तथा 08 मार्च, 2021 को मैत्री के अपने गंतव्‍य केन्‍द्रों पर पहुंची. भारती और मैत्री अंटार्कटिक में भारत के स्‍थायी रिसर्च बेस स्‍टेशन हैं. इन स्‍टेशनों पर केवल नवम्‍बर तथा मार्च के बीच दक्षिणी ग्रीष्‍म ऋतु के दौरान पहुंचा जा सकता है.

अंटार्कटिक की अपनी यात्रा के रास्‍ते में समुद्री यात्रा टीम ने हैदराबाद स्थित भारतीय राष्‍ट्रीय महासागर सूचना सेवा केन्‍द्र (आईएनसीओआईएस) के सहयोग से 35 डिग्री और 50 डिग्री अक्षांशों के बीच 4 स्‍वायत्‍तशासी ओसन ऑब्‍जर्विंग डीडब्‍ल्‍यूएस (डायरेक्‍शनल वेव स्‍पेक्‍ट्रा) वेव ड्रिफटर्स तैनात किये. ये ड्रिफटर्स आईएनसीओआईएस, हैदराबाद को तरंगों की स्‍पेक्‍ट्रल अभिलक्षणों, समुद्री सतह तापमानों और समुद्र स्‍तरीय वायुमंडलीय दबावों का रियल टाइम डाटा प्रेषित करेंगे, जो व्‍यापक रूप से मौसम पूर्वानुमानों को सत्‍यापित करने में मदद करेंगे. 40-आईएसईए में एक चाटर्ड आईस-क्‍लास पोत एमवी वेसिलेगोलोवामिन ऑनबोर्ड था. इसने हैलिकॉप्‍टरों को उठाने तथा ईंधन तथा प्रोविजन को फिर से भरने के लिए केपटाउन तथा रिसप्‍लाई और विंटर क्रू के चेंजओवर के लिए भारतीय रिसर्च बेस भारती और मैत्री में स्‍टॉप ओवर किया. अभियान ने इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ जियोमेग्‍नेटिजम से अतुल सुरेश कुलकर्णी के नेतृत्‍व में भारती में 20 कार्मिकों तथा भारतीय मौसम विज्ञान विभाग से रविन्‍द्र संतोष मोरे के नेतृत्‍व में मैत्री में 21 कार्मिकों की एक टीम पोजिशन की.

Check Also

कमज़ोर पड़ रहा तौते, गुजरात के तटवर्ती क्षेत्रों में तबाही, 5 मरे

गांधीनगर (Gandhinagar) . अरब सागर में उठा अत्यंत तीव्र (एक्स्ट्रीमली सिवीयर) श्रेणी का तूफ़ान तौते …