अप्रैल में थोक महंगाई दर बढ़कर 1.26 प्रतिशत हुई

Photo of author

नई दिल्ली, मई 14 . थोक महंगाई दर अप्रैल में बढ़कर 1.26 प्रतिशत पर पहुंच गई. केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी किए गए आंकड़ों में ये जानकारी सामने आई.

मार्च 2024 की तुलना में अप्रैल 2024 में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस की कीमतों में 3.56 प्रतिशत और खाद्य उत्पादों की कीमतों में 2.67 प्रतिशत का इजाफा हुआ. इसी दौरान गैर-खाद्य उत्पादों की कीमत में 1.19 प्रतिशत और मिनरल की कीमत में 1.55 प्रतिशत की गिरावट हुई.

डब्लूपीआई खाद्य सूचकांक (जिसका थोक महंगाई दर में कुल 24.38 प्रतिशत का भार है.) में तेजी देखने को मिली है. अप्रैल में फूड इंडेक्स 5.52 प्रतिशत रहा, जो मार्च में 4.65 प्रतिशत था.

विनिर्माण उत्पादों की महंगाई दर में 0.50 प्रतिशत की वृद्धि हुई है और यह अप्रैल में बढ़कर 140.8 हो गया है, जो कि पहले मार्च में 140.1 था. इसका थोक महंगाई दर में हिस्सा करीब 64.23 प्रतिशत का है.

सोमवार को खुदरा महंगाई दर का आंकड़ा जारी हुआ था. इसमें महंगाई दर गिरकर 11 महीने के निचले स्तर 4.83 प्रतिशत पर पहुंच गई है.

पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष, संजीव अग्रवाल ने कहा कि विनिर्माण क्षेत्र और गैर-खाद्य उत्पादों में महंगाई नकारात्मक होने के कारण थोक महंगाई दर अभी नियंत्रण में है.

अग्रवाल ने आगे कहा, “वैश्विक उठापठक के बावजूद ईंधन और ऊर्जा में महंगाई दर अप्रैल 2024 में 1.38 प्रतिशत पर रही है. हालांकि, खाद्य उत्पादों में महंगाई दर अप्रैल में 7.74 प्रतिशत पर रही है, जो कि मार्च में 6.88 प्रतिशत पर थी.”

एबीएस/