हिरण का मांस बेचने आए थे शिकारी रुपए का विवाद हुआ तो खरीदार ने मुखबिरी की

बीकानेर. हिरण का शिकार कर मांस बेचने बीकानेर (Bikaner)आए तीन शिकारियाें और खरीदार काे सदर थाना पुलिस (Police) व वन विभाग ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए रविवार (Sunday) तड़के चार बजे नगर निगम के पास से गिरफ्तार किया.

तीनाें शिकारी निगम के पास ठेला लगाने वाले चुन्नीलाल मेहरा काे मांस की सप्लाई देने आए थे. 12 हजार रुपए में मांस का साैदा तय हुआ. रुपए कम पड़ने पर खरीददार चुन्नीलाल ने आसपास में मांस बेचने की काेशिश की, लेकिन रुपए पूरे नहीं बने. इस बात पर दाेनाें पक्षाें के बीच बाेलचाल हुई ताे खरीददार चुन्नीलाल ने सदर पुलिस (Police) काे सूचना दी. सदर पुलिस (Police) ने चुन्नीलाल के घर पहुंचकर चाराें आराेपियाें काे पकड़ लिया. आराेपियाें से 16 किलाे मांस बरामद हुआ है. उनकी बाइक भी जब्त कर ली गई है. वन विभाग ने राणीबाजार गली नंबर पांच के सिकंदरअली, रफीक खां व कालू खां के खिलाफ हिरण शिकार का मामला दर्ज किया है.

आराेपी मूलरूप से माेतीगढ़ व किलचू गांव के रहने वाले है. सदर थाना प्रभारी सत्यनारायण गाेदारा व कार्यवाहक क्षेत्री वन अधिकारी बिशनसिंह ने बताया कि तीनाें शिकारियाें ने शनिवार (Saturday) रात छतरगढ़ थानाक्षेत्र के गांव माेतीगढ़ में दाे हिरणाें का शिकार किया. फिर आराेपी हिरणाें काे बाइक पर लेकर बजरंग धाेरे के समीप पहुंचे. यहां आने के बाद राेही में हिरण का मांस व खाल अलग की. फिर हिरण के मांस की सप्लाई देने चुन्नीलाल के पास आए. आराेपियाें ने यह भी कबूला है कि चुन्नीलाल पहले भी कई दफा हिरण का मांस मंगवा चुका है. लंबे समय से यह हिरण का मांस बेच रहा है.

वन विभाग की टीम ने बजरंग धाेरे के पास की राेही से भी अवेशष बरामद किए है. उधर जीव रक्षा संस्था का आराेप है कि बीकानेर (Bikaner)के आसपास क्षेत्र में रात के समय शिकारी खुलेआम चिंकारा हिरणों का शिकार कर माल सप्लाई करते हैं. शिकार करने में एक बड़ा गिरोह शामिल हैं. इनका खुलासा वन विभाग के उच्च अधिकारियाें से जांच करवाकर किया जाए.

Check Also

पीएम मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में अफगान संकट पर संयुक्त दृष्टिकोण अपनाने पर दे सकते हैं बल

नई दिल्ली (New Delhi) . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) इटली में 30 …