जब भीड़ में तस्वीर लेकर खड़ी तीन भावुक हो रही युवतियों पर पड़ी पीएम मोदी की नजर, फिर एसपीजी कमांडो को दिया ये आदेश

Photo of author

हावड़ा, 12 मई . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में रविवार को चार जनसभाएं की. इन सभी जनसभाओं में पीएम मोदी का अलग अंदाज देखने को मिला. पीएम मोदी ने हावड़ा में भी एक जनसभा को संबोधित किया और इस जनसभा में भी उनका अनोखा अंदाज सबने देखा. अब इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है.

पीएम मोदी हावड़ा में जनसभा को संबोधित करने मंच पर पहुंचे तो पूरा का पूरा मैदान ‘मोदी-मोदी’ और ‘जय श्रीराम’ के नारों से गूंज उठा था. पीएम मोदी ने जैसे ही मंच से भाषण देना शुरू किया, उनकी नजर मंच से सीधे भीड़ में पड़ी.

उन्होंने भाषण देना शुरू किया ही था कि उनकी नजर भीड़ में तीन युवतियों पर पड़ी, जो हाथ में फ्रेम वाली तस्वीरें लेकर खड़ी थीं. पीएम मोदी ने उन्हें देखते ही कहा, ”ये तीन लोग जो चित्र लेकर आए हैं, एसपीजी वाले उनसे ये कलेक्ट कर लें.” उन्होंने सभी युवतियों से कहा कि वह रोए नहीं, उनकी भेजी गई तस्वीर उन्हें मिल जाएगी.

पीएम मोदी के इतना कहते ही उन युवतियों के हाथ से तस्वीरें ली गईं. इस दौरान दो युवतियां काफी ज्यादा भावुक नजर आईं. इसके ठीक बाद पीएम मोदी की नजर एक बुजुर्ग महिला पर पड़ी. उन्होंने मंच से कहा कि इस बुजुर्ग माता जी को एक कुर्सी दीजिए और महिला को यह कहकर बैठने को कहा कि मां आपका आशीर्वाद मुझे मिल गया.

इससे पहले हुगली की चुनावी रैली में भी ऐसा ही नजारा देखने को मिला. जहां पीएम मोदी रैली को संबोधित कर रहे थे तभी, उनकी नजर हजारों की भीड़ में खड़े दो लोगों पर पड़ी. इसके बाद पीएम मोदी ने मंच से कहा, ”यहां दो सज्जन कोने में पेंटिंग बनाकर लाए हैं और कब से हाथ ऊपर करके खड़े हैं. आपके हाथों में दर्द हो जाएगा. लेकिन, आप इतने प्यार से पेंटिंग लेकर आए हैं और वो भी मेरी मां का चित्र बनाकर लाए हैं और पश्चिम की दुनिया आज ‘मदर्स डे’ मना रही है. हम भारत के लोग तो 365 दिन मां की भी पूजा करते हैं, दुर्गा मां और काली मां की भी पूजा करते हैं और भारत माता की भी पूजा करते हैं.”

पीएम मोदी ने आगे कहा, “मैं अपने एसपीजी कमांडो से कहूंगा कि दोनों लोग जो मेरी मां का चित्र बनाकर लाए हैं, उनसे वह पेंटिंग लेकर मुझे दे दें. मंच से पीएम मोदी ने दोनों से अपना नाम और पता पेंटिंग के पीछे लिखने को भी कहा.” उन्होंने कहा, “मैं जरूर आपको चिट्ठी लिखने का प्रयास करूंगा.”

जीकेटी/