वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये संवाद, उदयपुर के अधिकारियों ने लिया भाग


प्रदेश में कोरोना के बढ़ते जा रहे मामलो पर चिंता जताते हुए मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर काफी घातक साबित हो रही है. प्रदेश ही नही पुरे देश के हालात खराब है. कोरोना से बचाव हेतु केवल दो ही रास्ते है एक मास्क का उपयोग व दूसरा वैक्सीनेशन. उन्होंने कहा कि कोरोना मरीज को बचाने हेतु ऑक्सीजन बहुत जरुरी है अतः वर्तमान स्थिति को देखते हुए हम हरसंभव कोशिस कर रहे है कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी ना आये इस हेतु केंद्र सरकार (Central Government)से भी संवाद कर मदद मांगी जा रही है.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) गहलोत ने कहा कि पहले के मुकाबले वायरस का नया रूप ज्यादा घातक है. एक साथ पुरे के पूरे परिवार संक्रमित मिल रहे है. संक्रमण बहुत अधिक फैलने का एक मुख्य कारण लोगो द्वारा बरती जा रही लापरवाही भी है. कई असिमटोमैटिक मरीजो को पता भी नही चलता की वो संक्रमित है और मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नही करने की वजह से वो और लोगो को संक्रमित करते जाते है. इसी वजह से संक्रमण की चैन नही टूट रही है.

वैक्सीनेशन सभी का होना चाहिए

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि कोरोना से बचाव हेतु वैक्सीनेशन बहुत बड़ा हथियार है. उन्होंने केंद्र की नीति पर सवाल उठाते हुए कहा कि अगर समय रहते केंद्र सरकार (Central Government)आयु सीमा की बाधा ना रखकर सभी को वैक्सीनेट करने की अनुमति प्रदान कर देती तो आज हालात इतने भयावह नही होते. वायरस के नए वैरिएंट से युवा ज्यादा संक्रमित हो रहे है क्यों की उन्हें रोजगार के लिए इधर उधर जाना पड़ता है अगर 45 से कम उम्र वाले लोगो को भी वैक्सीन लग जाती तो संक्रमण की दर पर काफी हद तक काबू पाया जा सकता था.

लॉकडाउन (Lockdown) का सुझाव

बैठक के दौरान उपस्थित चिकित्सकीय सलाहकार सदस्यों ने कहा कि नए वेरिएंट की संक्रमण दर बहुत अधिक है और वर्तमान में यह शहरो में ही नही बल्कि गाँवों में भी बहुत अधिक फ़ैल रहा है. इस भयावह लहर के बावजूद भी लोग कोरोना एप्रोप्रियेट बिहेवियर की पालना नही कर रहे है यह चिंता का विषय है एवं जिस गति से संक्रमण बढ़ रहा है उसको देखते हुए लॉकडाउन (Lockdown) ही एक मात्र उपाय है. क्यों की बिना लॉकडाउन (Lockdown) संक्रमण की चैन तोडना असंभव है. वीसी में उदयपुर (Udaipur) डीओआईटी केंद्र से जिला कलेक्टर (Collector) चेतन देवड़ा, उदयपुर (Udaipur) पुलिस (Police) अधीक्षक डॉ राजीव पचार, अति जिला कलेक्टर (Collector) ओ पी बुनकर,मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी, आरएनटी मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ लाखन पोसवाल एवं उपमहापौर पारस सिंघवी सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे.

Check Also

कोविड अस्पतालों में पर्याप्त बेडों ऑक्सीजन आदि सहित मूलभूत सुविधाएं रखें दुरूस्त:- नोडल अधिकारी

रायबरेली -जनपद के नामित नोडल अधिकारी/अपर मुख्य सचिव, सहकारिता विभाग उ0प्र0 शासन एम0वी0एस0 रामी रेड्डी …