गुमला के दो युवक दुबई में बंधक, कोरोना पॉजिटिव कह कर बनाया गया बंधक

रांची (Ranchi) . झारखंड के गुमला जिले के रहने वाले सुनील भगत और अजय उरांव को दुबई में बंधक बनाकर रखा गया है. दोनों को नौकरी दिलाने के नाम पर टूरिस्ट वीजा पर दुबई ले जाया गया था, लेकिन बाद में दोनों को कोरोना पॉजिटिव बताकर वहां बंधक बना लिया गया है.

कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री ने गुरुवार (Thursday) को इस संबंध में मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन से मुलाकात कर पूर घटना की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि गुमला जिले के घाघरा प्रखंड स्थित नवडीहा बरटोली गांव और डुको गांव के रहने वाले सुनील भगत और अजय उरांव को उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का रहने वाला मधुकर मिश्रा इस वर्ष 28 जनवरी को नौकरी दिलाने का झांसा देकर उन्हें घर से अपने साथ ले गया था और 7 फरवरी को टूरिस्ट वीसा से दुबई पहुंचाया था. इन दोनों युवकों से उसने नौकरी दिलाने के नाम पर डेढ़ – डेढ़ लाख रुपए भी लिए थे, लेकिन वहां पहुंचने के बाद इन दोनों युवकों को कोई नौकरी नहीं दी गई.

इसके बाद इन दोनों युवकों को कोरोना पॉज़िटिव बताकर बंधक बना लिया गया. गीता उरांव ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) से इन दोनों युवकों को दुबई से मुक्त करा कर सुरक्षित वापस घर लाने के लिए पहल करने का आग्रह किया. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि यह एक बहुत गंभीर मामला है. इस दिशा में विदेश मंत्रालय से संपर्क स्थापित कर इन दोनों युवकों को मुक्त कराकर वापस लाने के लिए सरकार सभी समुचित कदम उठाएगी.

बताया गया है कि दोनों युवकों का टूरिस्ट वीसा इस साल 31 मार्च को खत्म हो रहा है. इसके बाद इन युवकों का दुबई में प्रवास आपराधिक श्रेणी के अंतर्गत आ जाएगा. ऐसे में इन दोनों युवकों को मुक्त कराना अत्यंत आवश्यक है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि इस मामले में सरकार त्वरित कदम उठाएगी. मुख्यमंत्री (Chief Minister) से मुलाकात करने वालों में बॉबी भगत के अलावा सुनील भगत की पत्नी फुलप्यारी देवी और अजय उरांव की पत्नी केवरा उरांव शामिल थी.

Check Also

मप्र में पिछले 20 दिन में 774 मौतें : 24 घंटे में 13,107 नए केस, 75 मौतें, अप्रैल के अब तक 1.45 लाख लोग हो चुके कोरोना संक्रमित

-अब तक 4,788 मौतें, इसमें से 774 पिछले 20 दिनों में हुईं, पॉजिटिविटी रेट 24 …