ट्रंप ने अंतर्राष्ट्रीय गठबंधन को कमजोर करने की धमकी देकर सैनिकों को खतरे में डाला, नाटो को चेतावनी दी – indias.news

वाशिंगटन, 12 फरवरी . नाटो देशों के महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर हाल के चुनाव प्रचार रैली में एक सदस्य देश के लिए बेतुका बयान देकर संगठन के भविष्य को कमजोर करने का आरोप लगाया है. ट्रंप ने कहा था, “आप भुगतान मत कीजिए, हम आपकी रक्षा नहीं करते.”

दिए गए बयान से रहे हैं. .

ट्रंप ने शनिवार को एक प्रचार अभियान के दौरान नाटो के भविष्य के बारे में आशंकाएं जताई थीं, जिसके बाद स्टोलटेनबर्ग ने दुनियाभर के नेताओं को चेतावनी जारी की.

मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि ट्रंप ने कुछ नाटो देशों की यह कहकर आलोचना की थी कि वे कथित तौर पर उन लक्ष्यों को पूरा नहीं करते, जिनके लिए संगठन बनाया गया था.

उन्होंने दक्षिण कैरोलिना की एक रैली में कहा कि गठबंधन में शामिल देशों से अपेक्षा की जाती है कि वे अपनी जीडीपी का कम से कम 2 प्रतिशत रक्षा पर खर्च करेंगे. ट्रंप ने विशेष रूप से उस बातचीत को याद किया, जिसके बारे में उनका दावा है कि वह उस समय एक देश के राष्ट्रपति के साथ हुई थी, जब वह पद पर थे. उन्होंने कहा, “एक बड़े देश के राष्ट्रपतियों में से एक ने खड़े होकर कहा, ‘ठीक है सर, अगर हम भुगतान नहीं करते हैं और रूस हम पर हमला करता है, तो क्या आप हमारी रक्षा करेंगे?”

ट्रंप ने पूछा था, “आपने भुगतान नहीं किया? आप अपराधी हैं.”

उन्होंने कहा, “हां, मान लीजिए कि ऐसा हुआ.”

ट्रंप ने कहा, “नहीं, मैं आपकी रक्षा नहीं करूंगा.” उन्होंने आगे कहा, “वास्तव में वे जो कुछ भी करना चाहते हैं, उसे करने के लिए मैं उन्हें प्रोत्साहित करूंगा.”

पूर्व राष्ट्रपति की टिप्पणियों पर कड़ी प्रतिक्रिया हुई. स्टोलटेनबर्ग ने एक बयान में कहा कि ट्रंप का हमला नागरिकों और सैनिकों, दोनों को खतरे में डाल सकता है.

स्टोल्टेनबर्ग ने बयान में कहा, “कोई भी सुझाव कि सहयोगी एक-दूसरे का बचाव नहीं करेंगे, अमेरिका सहित हमारी पूरी सुरक्षा को कमजोर कर देगा और अमेरिकी और यूरोपीय सैनिकों को खतरे में डाल देगा.” उन्‍होंने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में अमेरिका एक मजबूत और प्रतिबद्ध नाटो सहयोगी बना रहेगा.

नाटो के चार्टर के अनुसार, यदि सदस्यों पर हमला होता है तो उन्हें दूसरों की मदद के लिए आगे आना होगा.

ट्रंप के हालिया बयान की अमेरिका की सीमाओं के भीतर भी आलोचना हुई.

राष्ट्रपति जो बाइडेन की चुनाव प्रचार टीम द्वारा जारी एक बयान में कहा गया : “अगर मेरे प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप सत्ता हासिल करने में सक्षम हैं, तो वह स्पष्ट करें कि अगर रूस हमला करता है तो वह हमारे नाटो सहयोगियों को यह अनुमति देंगे कि वे जो चाहें करें.”

दक्षिण कैरोलिना की पूर्व गवर्नर निक्की हेली, जो 2024 जीओपी नामांकन के लिए ट्रंप के खिलाफ दौड़ में हैं, ने कहा कि नाटो “पिछले 75 वर्षों की सफलता की कहानी” है.

निक्की ने सीबीएस को बताया, “अब हम चाहते हैं कि नाटो सहयोगी अपना वजन कम करें. लेकिन ऐसे तरीके हैं, जिनसे आप वहां बैठे बिना और रूस को यह बताए बिना कि इन देशों के साथ अपने तरीके से काम कर सकते हैं, ऐसा कर सकते हैं.”

एसजीके/