बीजिंग, 3 अप्रैल . 2 अप्रैल को सत्रहवां “विश्व ऑटिज़्म जागरूकता दिवस” मनाया गया. इस मौके पर ऑटिज्म से पीड़ित बच्चों की स्वास्थ्य प्रबंधन क्षमताओं में सुधार लाने के उद्देश्य से एक लोक कल्याण प्रशिक्षण परियोजना पेइचिंग में शुरू की गई.

यह परियोजना प्रासंगिक चिकित्सकों और माता-पिता को संयुक्त रूप से ऑटिज्म से पीड़ित बच्चों के लिए अपनी स्वास्थ्य प्रबंधन क्षमताओं में सुधार करने में मदद करेगी, और ऑटिज्म से पीड़ित बच्चों के लिए सार्वजनिक कल्याण उपचार के सामान्यीकरण और सार्वजनिक कल्याण प्रशिक्षण के व्यवस्थितकरण को बढ़ावा देगी.

ऑटिज्म बच्चों में होने वाला एक न्यूरोडेवलपमेंटल डिसऑर्डर है. आंकड़ों के अनुसार, दुनिया में लगभग 6.7 करोड़ और चीन में लगभग 1 करोड़ लोग ऑटिज़्म से पीड़ित हैं, जिनमें से लगभग 30 लाख बच्चे हैं. इस उद्देश्य से, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 2007 में प्रत्येक वर्ष 2 अप्रैल को “विश्व ऑटिज़्म जागरूकता दिवस” ​​​​के रूप में नामित करने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया.

चीनी मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य अनुसंधान संघ की पहली ऑटिज़्म रोकथाम और उपचार अनुसंधान समिति के सदस्य यू शिआओथोंग ने परिचय देते हुए कहा कि अब तक 140 ऑटिस्टिक बच्चों को व्यापक एकीकृत चिकित्सा पद्धतियों के माध्यम से लोक कल्याणकारी उपचार प्राप्त हुआ है. उनमें 80 प्रतिशत रोगियों के मुख्य लक्षणों में उल्लेखनीय सुधार हुआ और वे समाज में शामिल होने में सक्षम हुए.

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

एबीएम/