कांग्रेस मुक्त भारत में बीजेपी का साथ देकर फंस गई यह पार्टी

नई दिल्ली (New Delhi) . 2014 लोकसभा (Lok Sabha) चुनाव से पहले जब नरेंद्र मोदी ने ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का नारा दिया तो ओडिशा की बीजू जनता दल (बीजेडी) सहित कई गैर कांग्रेसी दलों ने इसे पसंद किया, क्योंकि यह देश की सबसे पुरानी पार्टी को अपना मुख्य प्रतिद्वंद्वी मानती थी. नवीन पटनायक की अगुआई वाली क्षेत्रीय पार्टी बीजेपी से हाथ मिलाकर एनडीए का हिस्सा बन गई ताकि कांग्रेस को सस्ता से दूर रख सके. बीजेडी-बीजेपी ने 2000 से 2009 तक ओडिशा में गठबंधन सरकार चलाई, लेकिन दोनों पार्टियों की खुशमिजाजी सीट शेयरिंग के मुद्दे पर खत्म हो गई और उनकी राहें अलग हो गईं. गैर-कांग्रेसी मुहिम में शामिल होने के 20 साल बाद, जब सत्ताधारी पार्टी ने कांग्रेस को जमीनी स्तर से उखाड़ दिया, अब वह खुद को मुश्किल परिस्थिति में देख रही है, क्योंकि बीजेपी मुख्य प्रतिद्वंद्वी के रूप में उभर रही है.

बीजेडी के एक वरिष्ठ उपाध्यक्ष ने भी इस ओर इशारा किया. बीजेडी के नेता अब अहसास करते हैं कि ओडिशा को ‘कांग्रेस मुक्त’ करने से क्षेत्रीय दल को फायदा नहीं हुआ, बल्कि बीजेपी को उभार का मौका मिल गया. बीजेपी आदिवासी, दलित, पिछड़े वर्ग का अधिकतर वोट चुनावों में हासिल करने लगी है, जो कभी कांग्रेस के लिए वोट बेस था. कांग्रेस का वोट बेस बनने वाले अल्पसंख्यक भी बीजद से दूर हो गए हैं. अल्पसंख्यक वोट नहीं मिलना भी बीजेपी के लिए ओडिशा में कोई समस्या नहीं है, क्योंकि ईसाई यहां की कुल आबादी के 2.77 फीसदी और मुस्लिम 2.17 फीसदी हैं. इसलिए बीजेपी की हिंदुत्व नीति ओडिशा में भगवा दल के प्रसार के लिए काफी है. बीजेपी की हिंदुत्व छवि की काट के लिए बीजेडी प्रमुख नवीन पटनायक ने 2019 के बाद एक नीति बनाई है जिसके तहत अलग-अलग धर्मों के धार्मिक स्थलों को विकसित किया जा रहा है. राज्य सरकार (State government) ने 3,200 करोड़ रुपए की लागत से जगन्नाथ हेरिटेज कॉरिडोर प्रॉजेक्ट की शुरुआत की है. नवीन पटनायक ने भगवान जगन्नाथ को उड़िया सम्मान और गौरव का प्रतीक कहा. सीएम ने संबलपुर के मां समलेश्वरी मंदिर के विकास के लिए 200 करोड़ रुपये के पैकेज की भी घोषणा की है. 2021-22 के बजट में राज्य सरकार (State government) ने पुरी में जगन्नाथ श्राइन और भुवनेश्वर (Bhubaneswar) में लिंगराज मंदिर के लिए विकास के लिए 742 करोड़ रुपए का आवंटन किया. मयूरभंज और केंद्रपाड़ा में भी मंदिरों को समर्थन देने की घोषणा हुई है.

Check Also

ममता बनर्जी और उनकी पार्टी बीजेपी की बी टीम की तरह काम करती : अधीर रंजन चौधरी

नई दिल्‍ली . लोकसभा (Lok Sabha) में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने पश्चिम …