कोरोना की तीसरी लहर के मिलने लगे हैं संकेत

नई दिल्ली (New Delhi) . कोरोना की तीसरी लहर को लेकर आईसीएमआर ने कहा है कि इसके शुरुआती संकेत मिलने लगे हैं. जिन राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर का असर ज्यादा नहीं था, वहां पर तीसरी लहर के लक्षण देखने को मिल रहे हैं. आईसीएमआर के एपिडेमोलॉजी एंड कम्यूनिकेबल डिजीजेज के प्रमुख डॉ. समिरन पांडा ने सोमवार (Monday) को इस बात की जानकारी दी. उन्होंने कहा कि पहले के अनुभवों से सीख लेते हुए कई राज्यों ने अपने यहां पहले से ही कड़े प्रतिबंध लगा रहे हैं. ऐसे में कोरोना की तीसरी लहर का बहुत ज्यादा असर देखने को नहीं मिल रहा है. इस दौरान डॉ. समिरन पांडा ने बच्चों पर कोरोना के असर पर भी बात की. उन्होंने कहा कि चौथे राष्ट्रीय सीरो सर्वे में यह बात पूरी तरह से बड़े लोगों की तुलना में केवल 50 परसेंट बच्चे कोरोना की चपेट में आए थे.

डॉ. पांडा ने कहा कि इसलिए हमें इसको लेकर बहुत ज्यादा तनाव में रहने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि जिन राज्यों ने अपने यहां महामारी (Epidemic) पर लगाम लगा ली है और बड़ों को वैक्सीन लगवा दी है, वह धीरे-धीरे करके स्कूल खोल सकते हैं. आईसीएमआर के एपिडेमोलॉजी एंड कम्यूनिकेबल डिजीजेज के प्रमुख डॉ. समिरन पांडा सोमवार (Monday) को कोरोना की तीसरी लहर के संबंध में जानकारी दे रहे थे. उन्होंने कहा कि चूंकि केरल (Kerala) और महाराष्ट्र (Maharashtra) में केसेज पहले से ही बढ़े हुए हैं. यहां पर काफी एहतियात भी बरता जा रहा है. यहां के हालात को देखते हुए अन्य राज्य भी चौकन्ने थे और अपने यहां कोरोना प्रतिबंधों में ज्यादा छूट नहीं दी. इसका नतीजा है कि तीसरी लहर की शुरुआत होने के बावजूद हालात बहुत ज्यादा असामान्य नहीं हैं.

Check Also

एक्ट्रेस से ड्रग्स को लेकर बात कर रहे थे आर्यन

मुंबई (Mumbai) . ड्रग्स केस में बॉलीवुड (Bollywood) के सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन …