चीन का मुकाबला करने के लिए लद्दाख में तैनात सैनिकों को भी लगेगी कोरोना वैक्सीन

नई दिल्ली (New Delhi) . पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन सीमा के अग्रिम मोर्चे पर तैनात सैन्य डॉक्टर, पैरामेडिक्स और सैनिकों को कोरोना (Corona virus) के संक्रमण से बचाव के लिए पहले चरण में आज टीका लगाया जाएगा. अधिकारियों ने कहा कि टीके की 12,000 से अधिक खुराक लद्दाख पहुंच चुकी हैं, जिनमें से 4000 खुराक सशस्त्र बल के जवानों के लिए रखा गया है.

अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे रहने वाले सैन्य डॉक्टरों (Doctors) और चिकित्सा कर्मचारियों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है. टीकाकरण के लिए अग्रिम मोर्चे के सैनिकों की भी पहचान की गई है. सशस्त्र बलों को सख्त प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अपने रैंकों के भीतर बीमारी के प्रसार पर नियंत्रण रखने के सक्षम बनाया गया है. यहां तक ​​कि सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवने ने पिछले साल उत्तरी सीमाओं पर तैनात सैनिकों के लिए महामारी (Epidemic) को मुख्य चुनौती बताया था. विशेषज्ञों ने कहा कि सीमावर्ती सैन्य कर्मियों को बीमारी से बचाना महत्वपूर्ण है.

Check Also

कक्षा 4 की छात्रा के साथ दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज

फर्रुखाबाद . कोतवाली फर्रुखाबाद क्षेत्र स्थित एक गाँव निवासी एक कक्षा 4 की 13 वर्षीय …