डिजिटल मुद्रा के प्रचलन से भुगतान प्रणाली में आ सकता है बड़ा बदलाव: रिपोर्ट


मुंबई (Mumbai) . भारतीय रिजर्व बैंक (Bank) (आरबीआई (Reserve Bank of India) ) की एक रपट में विशेषज्ञों की राय है कि केंद्रीय बैंक (Bank) की डिजिटल मुद्रा (सीबीडीसी) के प्रचलन से भुगतान प्रणाली में बहुत बड़ा बदलाव आ सकता है तथा भुगतान तेज हो सकता है. इससे बैंकिंग प्रणाली में मध्यस्थहीनता की स्थिति पैदा होने का खतरा है. मु्द्रा और वित्त पर रपट (आरसीएफ) शीर्षक से यह रपट जारी की गई. रिजर्व बैंक (Bank) ने कहा है कि इसमें प्रस्तुत विचारों को संस्थान की राय नहीं माना जाना चाहिए.

‎रिपोर्ट में कहा गया है ‎कि सीबीडीसी को एक बार लागू कर दिया गया तो इससे भुगतान के लेनदेन में व्यापक बदालव आ सकते हैं और धन का हस्तांतरण अधिक तीव्र हो सकता है, पर ‎रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इसमें केवल अच्छाई ही नहीं है. इसमें बैंकिंग प्रणाली में मध्यस्थहीनता की स्थिति पैदा होने का खतरा है. यानी बैंकों की मध्यस्थहीनता की भूमिका खत्म होने की स्थिति पैदा होने का खतरा है. यदि बैंकिंग प्रणाली को कमजोर समझा जाता हो तो यह खतरा और भी बड़ा हो जाता है.

Check Also

दिल्ली में बढ़ते संक्रमण के बीच CM केजरीवाल ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी, बेड बढ़ाने की मांग की

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली के मुख्यमंत्री (Chief Minister) एवं आम आदमी पाटीर् के …