बिहार में चौथे चरण का चुनावी शोर थमा, पांच सीटों पर 55 प्रत्याशियों की किस्मत का होगा फैसला

Photo of author

पटना, 11 मई . बिहार में लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में पांच संसदीय क्षेत्रों में होने वाले मतदान को लेकर शनिवार शाम चुनाव प्रचार थम गया. इस चरण में दरभंगा, उजियारपुर, समस्तीपुर (सु.), बेगूसराय तथा मुंगेर लोकसभा क्षेत्रों में सोमवार को मतदान होगा.

इस चरण में 95.83 लाख मतदाता 55 प्रत्याशियों का राजनीतिक भविष्य तय करेंगे. बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के मुताबिक इस चरण में सबसे अधिक 13 प्रत्याशी उजियारपुर लोकसभा क्षेत्र में हैं जबकि सबसे कम आठ प्रत्याशी दरभंगा संसदीय क्षेत्र से मैदान में हैं. समस्तीपुर और मुंगेर से 12-12 प्रत्याशी तथा बेगूसराय से 10 प्रत्याशी ताल ठोंक रहे हैं.

मतदाताओं के मताधिकार का प्रयोग करने के लिये 9,447 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. इस चरण में राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय दलों से 14 प्रत्याशी हैं, जबकि 21 निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं.

एनडीए की ओर से भाजपा के तीन, लोजपा के एक तथा जदयू के एक प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं.

महागठबंधन की ओर से राजद के तीन, कांग्रेस का एक तथा वामपंथी दल का एक प्रत्याशी है. बसपा इन सभी सीटों पर चुनाव लड़ रही है. इन सीटों पर मुख्य मुकाबला एनडीए और महागठबन्धन उम्मीदवारों के बीच माना जा रहा है.

बेगूसराय में भाजपा के प्रत्याशी और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का मुकाबला भाकपा के अवधेश राय से है. उजियारपुर में भाजपा प्रत्याशी और केंद्रीय मंत्री नित्यानन्द राय की सीधी लड़ाई राजद के आलोक मेहता से है. दरभंगा में भाजपा के गोपाल जी ठाकुर से सीधा मुकाबला राजद के ललित यादव से तथा समस्तीपुर में लोजपा (रा) की शांभवी चौधरी की सीधी लड़ाई कांग्रेस के सन्नी हजारी से है.

मुंगेर में जदयू के ललन सिंह और राजद की अनीता देवी में मुख्य मुकाबला है. मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं. स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित कराने के लिए पर्याप्त सुरक्षा बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है. सुरक्षा को लेकर घुड़सवार दस्तों की भी व्यवस्था की गई है.

एमएनपी/एकेएस/एकेजे