टेस्ला के भारत में ईवी वाहन उतारने की खबर, टाटा ने भी बनाई मजबूत योजना

नई दिल्ली (New Delhi) . विश्व के सबसे धनाढ्य और टेस्ला के मालिक एलन मस्क भारत में अपनी इलेक्ट्रिक कार पेश करने की योजना बना रहे हैं. लेकिन उन्हें टक्कर देने के लिए टाटा ग्रुप ने भी कमर कस ली है. अपने इलेक्ट्रिक वीकल्स (ईवी) को पंख देने के लिए टाटा मोटर्स ने बड़ी योजना बनाई है. सूत्रों के मुताबिक प्राइवेट इक्विटी ग्रुप टीपीजी टाटा मोटर्स की इलेक्ट्रिक वीकल्स डिवीजन में 1 अरब डॉलर (Dollar) का निवेश कर सकता है. वाहन बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी टाटा मोटर्स अपने पैसेंजर वीकल्स डिवीजन को एक सहयोगी कंपन में ट्रांसफर करने की प्रक्रिया में है. इसमें ईवी पोर्टफोलियो भी शामिल है. इसके लिए कंपनी को मार्च में शेयरहोल्डर्स से मंजूरी मिल गई थी. टीपीजी का निवेश 1.5 अरब डॉलर (Dollar) तक पहुंच सकता है. इसके लिए टाटा मोटर्स के ईवी डिवीजन की वैल्यू 8 से 9 अरब डॉलर (Dollar) लगाई जा सकती है. सूत्रों के मुताबिक निवेश की राशि और वैल्यूएशन पर अभी तक अंतिम फैसला नहीं हुआ है. माना जा रहा है कि इस बारे में इसी महीने औपचारिक घोषणा हो सकती है.

टाटा ग्रुप साथ ही अबु धाबी इनवेस्टमेंट अथॉरिटी और सऊदी अरब के पीआईएफ जैसे कुछ सॉवरेन वेल्थ फंड्स के साथ भी बातचीत कर रहा है. लेकिन माना जा रहा है कि उनका निवेश टीपीजी की तुलना में कम होगा. टीपीजी को एंकर इनवेस्टर का दर्जा मिल सकता है. सूत्रों के मुताबिक टाटा ग्रुप ने साथ ही केलीफोर्निया पब्लिक रिटायरमेंट सिस्टम (केलेपरर्स) से भी बातचीत कर रहा है. इनमें से कई निवेशक टीपीजी कैपिटल के लिमिटेड पार्टनर्स (Nurse) (एलपी) हैं. इससे पहले टाटा मोटर्स ने अपनी ईवी प्लेटफॉर्म के लिए फंड जुटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है और इसके लिए मोर्गन स्टेनली और जेपी मोर्गन को काम पर लगाया है. माना जा रहा है कि बैंक (Bank) ऑफ अमेरिका भी टीपीजी के साथ काम कर रहा है. टाटा संस, टाटा मोटर्स और टीपीजी ने इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. टाटा मोटर्स ने 2025 तक देश में 10 नए इलेक्ट्रिक वीकल्स उतारने की घोषणा की है.

Check Also

पेट्रोल और डीजल महंगा

नई ‎दिल्ली . घरेलू बाजार में गुरुवार (Thursday) को लगातार दूसरे दिन पेट्रोल (Petrol) और …