जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक में कलक्टर का निर्देश- कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन हो


उदयपुर (Udaipur). जिला कलक्टर (District Collector) चेतन देवड़ा ने शनिवार (Saturday) को जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक में हाल ही शहर के कुछ हिस्सों में कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या पर चिंता जताते हुए कहा कि यह हम सब के लिए एक अलार्म है. यदि कोेरोना गाइडलाइन की सख्ती से पालना नहीं की गई तो कोरोना (Corona virus) पलटवार कर सकता है. इसके साथ ही जिला कलक्टर (District Collector) ने एयरपोर्ट, पर्यटन और परिवहन विभाग के अधिकारियों को कोविड गाइडलाइन और प्रोटोकॉल का सख्ती से पालना करवाने के निर्देश दिए.

होटल (Hotel) में कमरे के लिए आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी

महाराष्ट्र (Maharashtra) और केरल (Kerala) से उदयपुर (Udaipur) आने वाले पर्यटकों और यात्रियों (Passengers) की स्क्रीनिंग और सैंपलिंग की समीक्षा करते हुए कलक्टर देवड़ा ने होटल (Hotel) तथा टूर एंड ट्रेवल्स व्यवसायियों के लिए गाइडलाइन जारी करने के निर्देश दिए. कलक्टर ने कहा कि होटल (Hotel) में महाराष्ट्र (Maharashtra) और केरल (Kerala) से आने वाले व्यक्ति को प्रवेश देने से पहले उसके आरटीपीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य होगी. बिना आरटीपीसीआर रिपोर्ट के किसी भी मेहमान को होटल (Hotel) में प्रवेश नहीं दिया जाएगा. इसके लिए पर्यटन विभाग की एक टीम बनाई गई है, जो नियमित रूप से होटल (Hotel) में ठहरने वाले मेहमानों की सूचना की ऑडिट करेगी.

यदि विशेष परिस्थितियों में महाराष्ट्र (Maharashtra) और केरल (Kerala) से कोई व्यक्ति बिना आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट के होटल (Hotel) में ठहरता है तो होटल (Hotel) संचालक को गेस्ट का आरटीपीसीआर टेस्ट करवाना होगा और जब तक निगेटिव रिपोर्ट प्राप्त नहीं हो जाती तब तक वह व्यक्ति होटल (Hotel) के कमरे में ही रहेगा. यदि होटल (Hotel) में ठहरने के बाद किसी व्यक्ति की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आती है तो होटल (Hotel) संचालक को तुरंत इसकी जानकारी जिला प्रशासन को देनी होगी. ऑनलाइन बुकिंग के दौरान भी महाराष्ट्र (Maharashtra) और केरल (Kerala) से आने वाले व्यक्ति को आरटीपीसीआर रिपोर्ट देनी होगी, तभी होटल (Hotel) में कमरा बुक होगा. बैठक के दौरान कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के अन्य उपायों को सख्ती से लागू करने पर चर्चा की गई.

कंटेनमेंट जोन में किसी को न हो परेशानी

कलक्टर देवड़ा ने जिला रसद अधिकारी को शहर में कंटेनमेंट जोन घोषित क्षेत्र में रहने वाले लोगों की रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने और आवश्यक वस्तुओं की सुचारू रूप से आपूर्ति सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिए.

स्कूलों में वार्षिकोत्सव रद्द

कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका को देखेते हुए जिला कलक्टर (District Collector) के निर्देश पर राजकीय विद्यालयों में वार्षिकोत्सव पर आगामी आदेश तक रोक के आदेश जारी किए गए हैं. स्कूलों में कोई भी भीड़भाड़ वाला कार्यक्रम आयोजित नहीं होगा. स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाने का पूरा ध्यान रखा जाएगा. जिला प्रशासन की अनुमति के बिना जिले के समस्त स्कूलों में कोई भी ऐसा कार्यक्रम आयोजित नहीं होगा, जिससे कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका हो.

एयरपोर्ट पर बढे़गी सख्ती

कलक्टर देवड़ा ने डबोक स्थित महाराणा प्रताप एयरपोर्ट प्रशासन को निर्देश दिए कि एयरलाइंस कंपनियां महाराष्ट्र (Maharashtra) और केरल (Kerala) से आने वाले यात्रियों (Passengers) की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट लेने के बाद ही यात्रियों (Passengers) को विमान में प्रवेश की अनुमति दें. कलक्टर ने डबोक एयरपोर्ट पर यात्रियों (Passengers) की स्क्रीनिंग और सैंपलिंग व्यवस्था चाक-चौबंद रखने को कहा. जिला परिवहन अधिकारी को टूर एंड ट्रेवल्स ऑपरेटर के साथ सामंजस्य स्थापित कर यात्रियों (Passengers) की स्क्रीनिंग और सैम्पलिंग व्यवस्था पुख्ता करने के निर्देश दिए. विशेष तौर पर महाराष्ट्र (Maharashtra) और केरल (Kerala) से आने वाले यात्रियों (Passengers) की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट होने पर ही उदयपुर (Udaipur) जिले में प्रवेश की अनुमति देने के निर्देश दिए. कलक्टर ने कहा कि टैक्सी चालक और प्राइवेट बस ऑपरेटर भी कोविड प्रोटोकॉल की पालना में लापरवाही न बरतें.

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने पर कटेगा चालान

बैठक के दौरान सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी ने सड़क किनारे चाट-पकौड़ी और चाय की दुकानों पर सुबह-शाम उमड़ने वाली भीड़ की वजह से कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका जताई. इस पर एसपी डॉ. राजीव पचार ने मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने पर चालान काटने का अभियान तेज करने और लोगों को जागरूक करने की बात कही. जिले के कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों में भी सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं करने और बिना मास्क घूमने पर चालान काटने के निर्देश दिए.

18 विभागों के अधिकारी रहे उपस्थित

जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक में आरएनटी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. लाखन पोसवाल, एसपी डॉ. राजीव पचार, यूआईटी सचिव अरूण हसीजा, नगर निगम कमिश्नर हिम्मत सिंह बारहठ, जिला परिषद सीईओ डॉ. मंजू, एडीएम सिटी अशोक कुमार, एडीएम प्रशासन ओ.पी. बुनकर सहित कुल 18 विभागों के अधिकारी उपस्थित थे.

वीसी के जरिए जानी ब्लॉक लेवल की स्थिति

जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक के बाद कलक्टर देवड़ा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उदयपुर (Udaipur) जिले में सभी ब्लॉक स्तर के अधिकारियों की बैठक ली. बैठक के दौरान उपनगरीय तथा ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और कोविड गाइडलाइन की पालना का जायजा लिया. वीसी में उदयपुर (Udaipur) जिले के सभी उपखंड अधिकारी, डीएसपी, बीसीएमओ तथा तहसीलदार शामिल हुए.

Check Also

चलती कार में आग, 5 गुजराती पर्यटकों ने कूदकर बचाई जान

उदयपुर (Udaipur). जिले के सायरा थाना क्षेत्र में उदयपुर (Udaipur) की ओर आ रही एक …