तुष्टीकरण नहीं सशक्तिकरण से देश बढ़ेगा आगे, केजरीवाल को जाना होगा जेल : रोहन गुप्ता

Photo of author

नई दिल्ली, 16 मई . लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण के लिए प्रचार जोरों पर है. भाजपा के स्टार प्रचारक पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर तमाम बड़े नेता चुनावी मैदान में डटे हुए हैं. इसी कड़ी में भाजपा नेता रोहन गुप्ता ने मोदी सरकार के दस साल की उपलब्धियों को गिनाते हुए विपक्ष पर जमकर प्रहार किया.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने हमेशा 140 करोड़ भारतीयों की बात की है. प्रधानमंत्री मोदी ने हमेशा एक ही बात कही है कि देश के संसाधनों पर सभी भारतीयों का अधिकार है. जिस प्रकार विपक्ष की ओर से धर्म और देश को संसाधनों के आधार पर बांटने की बात कही जा रही है, हम उसके खिलाफ हैं. तुष्टीकरण से किसी का फायदा नहीं है. भाजपा तुष्टीकरण के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है और 140 करोड़ भारतीयों के सशक्तीकरण की बात कर रही है. यह बात विपक्ष को अखर रहा है.

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार और भाजपा की हमेशा से यह सोच रही है कि देश के संसाधनों पर हक सभी भारतीयों का है. वो हिंदू हों या मुसलमान. वह किसी भी जाति-धर्म से ताल्लुक रखता हो. सभी लोगों को केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ मिल रहा है. चाहे उज्ज्वला योजना, किसान सम्मान निधि, प्रधानमंत्री आवास योजना, आरोग्य बीमा योजना जैसी तमाम योजनाएं हो, जिसका सबको लाभ मिल रहा है. वो हिंदू, मुसलमान, सिख, इसाई कोई भी हो.

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार की राजनीति इस देश में हो रही है, जनता समझ चुकी है कि तुष्टीकरण से किसी का फायदा नहीं है. मुस्लिम भाई-बहन भी इस बात को समझ चुके हैं कि कांग्रेस या दूसरी पार्टियों ने फायदा नहीं पहुंचाया, सिर्फ उन्हें वोटबैंक की तरह इस्तेमाल किया है. आज देश समझ चुका है कि तुष्टीकरण से नहीं, सिर्फ, सशक्तीकरण से देश आगे बढ़ने वाला है. मोदी सरकार की जो विचारधारा है, वो विकासधारा की है. उसमें हर जाति-धर्म के लोग भारतीय बनकर उसका लाभ उठा रहे हैं.

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी पर आरोप लगाते हुए रोहन गुप्ता ने कहा कि देश के सामने इनका चेहरा बेनकाब हो गया है. आज पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री ने सीएम केजरीवाल के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए हैं. केजरीवाल सिर्फ 15-20 दिन के लिए बाहर हैं. उन्हें वापस जेल जाना होगा. दिल्ली में शराब कांड जैसा घोटाला पंजाब में भी इन्होंने किया है. जिसके खिलाफ एक्शन नहीं लिया गया. पंजाब में आप के नेता कांग्रेस को कहते हैं कि हम आप के हैं कौन और दिल्ली में कहते हैं हम साथ-साथ हैं. जनता ये कैसे स्वीकार करेगी? कांग्रेस के कार्यकर्ता दिल्ली में कैसे आम आदमी पार्टी के साथ मिलकर वोट मांगेंगे. सत्ता के लिए ये लोग किसी भी हद तक जा सकते हैं.

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी पर देश के विरोधियों से पैसे लेने का आरोप है. इनकी महिला सासंद से जो दुर्व्यहार हुआ है, उस मामले पर ये लोग चुप्पी साधे बैठे हैं. इतने विरोधाभासी होने के बाद भी कांग्रेस के मूल कार्यकर्ता को मजबूर होकर इस पार्टी के साथ जाना पड़ रहा है. जो दर्शाता है कि कांग्रेस विचारधारा से पूरी तरह से विमुख हो गई है. जनता इस प्रकार के गठबंधन को कभी भी स्वीकार नहीं करेगी. वहां नैरेटिव ही क्लियर नहीं है. दिल्ली के साथ-साथ पंजाब में दोनों पार्टियों को जनता नकारने वाली है.

एकेएस/एबीएम