चरित्र संदेह करती थी इसीलिए ननद को कुल्हाड़ी से काटा – शव को घर में ही रखे लोहे के संदूक में डालकर छिपा दिया

जोधपुर (Jodhpur) . राजस्थान (Rajasthan)में एक महिला ने चरित्र संदेह करने के कारण अपनी ननद की कुल्हाड़ी मारकर हत्या (Murder) कर दी. अपराध को ‎छुपाने के ‎लिए शव को घर में ही रखे लोहे के संदूक में डालकर छिपा दिया. जब संदूक से बदबू आने लगी, तो मामले का खुलासा हो गया. ये घटना जोधपुर (Jodhpur) के निकटवर्ती झंवर के बड़लियां गांव की है. पुलिस (Police) ने लाश को जब्त कर आरोपी महिला को हिरासत में ले लिया है.

जोधपुर (Jodhpur) मे बोरानाडा सर्किल के एसीपी मांगीलाल राठौड़ बताया कि 15 अप्रैल को पुलिस (Police) को लाश मिलने की सूचना मिली. पुलिस (Police) के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे, तो देखा कि मृतका का शव एक लोहे के बक्से में पड़ा था. उसके सिर में कुल्हाड़ी से वार के निशान थे. प्रथम दृष्टया ही मामला हत्या (Murder) का लग रहा था. घर में मृतका, उसकी बेटी और भाभी ही मौजूद थी. ऐसे में गहन पूछताछ की, तो वारदात का खुलासा हो गया. झंवर के बड़लियां गांव की रहने वाली 40 साल की रेखा भील, अपनी 15 साल की एक बेटी विमला के साथ रहती थी. घटना से दो दिन पहले उसकी भाभी पूजा उनसे मिलने आई थी. बताया जा रहा है कि रेखा अपनी भाभी के चरित्र पर संदेह करती थी और इसी बात को लेकर उनमें कई बार कहासुनी हो चुकी थी.

इसी से नाराज पूजा ने 14 अप्रैल की अलसुबह ही रेखा के सिर पर कुल्हाड़ी का वार कर दिया. कुल्हाड़ी के वार से रेखा का सिर फट गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गयी. वहीं कूलर की तेज आवाज में उसकी चीख भी दब गई. पूजा ने हत्या (Murder) के बाद लाश को लोहे के संदूक में डाल दिया और उसके ऊपर कपड़े रख दिये. अगले दिन जब रेखी की बेटी ने बक्से पर बिस्तर रखा, तो उसे अंदर से बदबू आने का अहसास हुआ. जब संदूक खोला, तो सारे मामले का खुलासा हो गया. पूछताछ में आरोपी महिला का झूठ भी पकड़ा गया. जब मृतका की बेटी ने उससे अपनी मां के बारे में पूछा था. तो उसने बताया था कि वो काम पर गई है. लेकिन संदूक खुलने पर सारी सच्चाई सामने आ गई.

Check Also

84 की उम्र में श्रीमती शारदा ने दी कोरोना को मात

सुकमा, . कोरोना संक्रमित हो जाने पर थोड़ी घबराहट और मानसिक तौर पर विचलित होना …