कश्मीर घाटी में स्थानीय युवाओं को कट्टरपंथी बना रहे आतंकी

जम्मू (Jammu) . कश्मीर घाटी में स्थानीय युवाओं को कट्टरपंथी ब्रेन वाश करके आतंकी घटनाओं में झोंक रहे हैं. पूरे घटनाक्रम में आईएसआई की खास डिजाइन है. जिसके तहत ये दिखाने की कोशिश की जा रही है कि घाटी में हमले में शामिल लोग आतंकी नहीं बल्कि स्थानीय विद्रोही युवा हैं. जिनके पास न तो प्रोफेशनल हथियार हैं और न ही प्रोफेशनल आतंकियों जैसा प्रशिक्षण. स्थानीय स्तर पर ऐसे युवाओं की भर्ती तेज करने का प्रयास हो रहा है जो गैर मुस्लिमों को निशाना बना सकें. जानकारों का कहना है कि ताजा आतंकी घटनाओं के पीछे एक अलग पैटर्न दिख रहा है. आतंकी इस बार आम लोगों को और उनमें भी गैर-मुस्लिमों को निशाना बना रहे हैं. इसमें भारी-भरकम हथियार भी इस्तेमाल नहीं किए जा रहे. ज्यादातर घटनाओं में पिस्तौल का उपयोग किए जाने की जानकारी मिली है. इसके जरिये यह जताने के प्रयास है कि पाकिस्तान या विदेशी आतंकी गुटों के लोग हमलों में शामिल नहीं हैं. बल्कि स्थानीय स्तर पर विद्रोह बढ़ रहा है. कश्मीर घाटी में स्थानीय युवाओं को कट्टरपंथी ब्रेन वाश करके आतंकी घटनाओं में झोंक रहे हैं. पूरे घटनाक्रम में आईएसआई की खास डिजाइन है. जिसके तहत ये दिखाने की कोशिश की जा रही है कि घाटी में हमले में शामिल लोग आतंकी नहीं बल्कि स्थानीय विद्रोही युवा हैं. जिनके पास न तो प्रोफेशनल हथियार हैं और न ही प्रोफेशनल आतंकियों जैसा प्रशिक्षण. स्थानीय स्तर पर ऐसे युवाओं की भर्ती तेज करने का प्रयास हो रहा है जो गैर मुस्लिमों को निशाना बना सकें. जानकारों का कहना है कि ताजा आतंकी घटनाओं के पीछे एक अलग पैटर्न दिख रहा है. आतंकी इस बार आम लोगों को और उनमें भी गैर-मुस्लिमों को निशाना बना रहे हैं. इसमें भारी-भरकम हथियार भी इस्तेमाल नहीं किए जा रहे. ज्यादातर घटनाओं में पिस्तौल का उपयोग किए जाने की जानकारी मिली है. इसके जरिये यह जताने के प्रयास है कि पाकिस्तान या विदेशी आतंकी गुटों के लोग हमलों में शामिल नहीं हैं. बल्कि स्थानीय स्तर पर विद्रोह बढ़ रहा है.

Check Also

जियो-बीपी मुंबई के पास पहला पेट्रोल पंप खोलेगी

नई दिल्ली (New Delhi) . वैश्विक ऊर्जा कंपनी बीपी पीएलसी ने कहा कि वह रिलायंस …