तेलंगाना वन विभाग ने नलगोंडा जिले में बाघ देखे जाने से किया इनकार – indias.news

हैदराबाद, 12 फरवरी . तेलंगाना वन विभाग ने नलगोंडा जिले के नारकेटपल्ली में बाघ देखे जाने की खबरों का खंडन किया.

विभाग ने सोमवार को स्पष्ट किया कि जिले के नारकेटपल्ली मंडल में बाघ देखे जाने की कोई संभावना नहीं है.

एडावल्ली के बाहरी इलाके में एक बाघ देखे जाने की मीडिया रिपोर्टों के बाद, जिला वन अधिकारियों ने क्षेत्र का दौरा किया.

उन्होंने स्पष्ट किया कि क्षेत्र में बाघ की मौजूदगी का संकेत देने के लिए कोई पगमार्क या अन्य संकेत नहीं थे. उन्हें क्षेत्र में तेंदुए की मौजूदगी के कोई भी निशान नहीं मिले.

मुख्य वन्यजीव वार्डन एम.सी. परगैन ने भी जिला वन अधिकारियों से बात की और विवरण इकट्ठा किया. अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि क्षेत्र में बाघ की आवाजाही की कोई संभावना नहीं है.

वन अधिकारियों ने कहा कि कुछ लोग सोशल मीडिया पर पड़ोसी राज्यों से संबंधित बाघ देखे जाने के वीडियो प्रसारित कर रहे थे और दावा कर रहे थे कि बाघ को नारकेटपल्ली मंडल में देखा गया था.

उन्होंने कहा कि इन दावों में कोई सच्चाई नहीं है और लोगों से इस पर विश्वास न करने की अपील की.

वन विभाग ने कहा है कि लोग राज्य के किसी भी हिस्से में बाघ या जंगली जानवर देखते हैं, तो वे टोल फ्री नंबर 18004255364 पर कॉल कर सकते हैं या स्थानीय अधिकारियों को सूचित कर सकते हैं.

पीके/एबीएम