बच्चों को सिखाएं कैसे बचाएं पैसे, लाकडाउन में बच्चों को सीखाए अच्छी आदतें · Indias News

बच्चों को सिखाएं कैसे बचाएं पैसे, लाकडाउन में बच्चों को सीखाए अच्छी आदतें


लंदन . कोरोना (Corona virus) की लाकडाउन के चलते बच्चे घरों में बंद है.बच्चों की सिचुएशेन को समझते हुए पैरेंटस इस समय उन्हें कई अच्छी आदतें और बातें सिखा सकता हैं. कहते हैं बचपन में जो आदत डल जाए वह जीवनभर साथ रहती है. तो क्यों न इस समय बच्चों को छोटी उम्र से ही पैसों को बचाने का गुण सिखाएं. उन्हें बताएं कि वह कैसे छोटी उम्र से ही पैसों की बचत कर सकते हैं. अगर वह अच्छे से सीख जाएंगे तो यकीन मानिए बड़े होने पर उन्हें कम से कम मनी मैनेजमेंट को लेकर कोई दिक्कत नहीं होगी क्योंकि उन्हें बचत के साथ साथ सही जगह पर पैसे खर्च करने के बारे में पता चल जाएगा.

आइए आपको बताते हैं कि कैसे आप बच्चों को पैसे बचाना सिखा सकते हैं. बच्चों को छोटी उम्र से पिगी बैंक (Bank) में पैसे जमा करना सिखाएं. अगर आप पिगी बैंक (Bank) में सेव मनी पर अपनी ओर से छोटा सा भी इंट्रेस्ट दे दें तो बच्चे के लिए तो यह बहुत बड़ी बात हो जाएगी. यह उसे मनी सेव करने के लिए और भी ज्यादा प्रोत्साहित करेगा. बच्चों के लिए भी एक छोटा बजट तैयार करें. दरअसल बच्चे कई बार जिद में आकर कई तरह की चीजें खरीदने को कहते हैं. खास कर खेलने और खाने की चीजें. ऐसे में उन्हें बताएं कि उनके लिए क्या जरूरी है और क्या नहीं. बच्चों के जिद करने पर भी उन्हें सही और गलत का फर्क करना सिखाएं. उन्हें बताएं कि कहां पर कितने पैसे खर्च करने चाहिए. बच्चे के सामने गोल सेट करें.

बच्चे को बताएं कि अगर उसे कोई सामान चाहिए होगा तो उसके लिए उसे खुद ही पैसे इकट्ठे करने होंगे. गोल सेट होने पर बच्चा मोटिवेट होगा कि वह अपने लिए कैसे सेविंग्स करे. उसका हौसला बढ़ाएं. यह न सोचें कि बचत के गुण बच्चे में यूं ही आ जाएंगे क्योंकि बच्चे अपने पैरेंट्स से ही सबसे ज्यादा सीखते हैं. ऐसे में अगर आप खुद जमकर पैसा खर्च करते हैं और बच्चे से उम्मीद करें कि वह मनी सेव करना सीखे तो यह गलत होगा. पहले खुद पर काबू करें. मालूम हो कि कोरोना के कारण सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाते हुए सभी लोग अपने घरों में बंद हैं. ऐसे में सबसे ज्यादा परेशानी उन पैरेंट्स को रही हैं जिनके घरों में छोटे बच्चे हैं. कई बार बच्चे हालात की गंभीरता को समझ नहीं पाते और पैरेंट्स को परेशान करने लगते हैं. ऐसे में उन्हें समझाना बहुत ही मुश्किल होता है.

Check Also

अगले 10 दिनों में चलेंगी 2,600 श्रमिक स्पेशल ट्रेन, 36 लाख प्रवासी यात्रा करेंगे

नई दिल्ली (New Delhi) . रेलवे (Railway)बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा है …