टी20 विश्व कप : लक्ष्य का पीछा करने वाली टीमों को होगा लाभ

दुबई . आईसीसी टी20 विश्वकप शुरु हो गया है हालांकि अभी बड़ी टीमों के बीच मुकाबले होने है. यह मुकाबले अक्टूबर-नवंबर में होने के कारण मौसम में ठंडक आ गयी है. यहां रात के मैच में ओस पड़ती है. ऐसे में टॉस की भूमिका भी अहम हो जाती है. पिछले साल यहां अक्टूबर-नवंबर में खेले गये आईपीएल (Indian Premier League) मुकाबलों के दौरान लक्ष्य का पीछा करने वाली टीमों ने 77 फीसदी मुकाबले जीते. इसका कारण है कि ओस के कारण दूसरी पारी में बल्लेबाजी करना आसान हो जाता है. वहीं इससे गेंदबाजों को भी काफी परेशानी आती है.

टीम इंडिया को सुपर-12 के 5 में से 4 मुकाबले दुबई में खेलने हैं, जबकि एक मुकाबला अबुधाबी में खेला जाएगा. दुबई की पिच को देखें तो यहां बल्लेबाजी आसान रहती है. पिछले 2 आईपीएल (Indian Premier League) सीजन की बात करें तो यहां 150 से 160 का औसत स्कोर बना. यहां स्पिनर्स (Nurse) के मुकाबले तेज गेंदबाज अधिक सफल रहे हैं. आईपीएल (Indian Premier League) 2020 की बात करें तो पहले हाफ के 15 में से 10 मुकाबले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने जीते. वहीं दूसरे हाफ में 12 में से 10 मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम को हार मिली.

वहीं अबुधाबी की पिच को यूएई की सबसे अच्छे पिच माना जाता है. आईपीएल (Indian Premier League) के दौरान भी यहां खूब रन बने थे. दिन के मुकाबले में दोनों टीमों को कोई फायदा नहीं मिलता है पर शाम के मैच में लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम ही फायदे में रही है. आईपीएल (Indian Premier League) 2020 के कुल 60 मैचों की बात करें तो पहले 30 में से 21 मैच पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने जीते थे परन्तु दूसरे हाफ के 30 में से 22 मैच लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम ने जीते. इतना ही नहीं दूसरे हाफ में अबुधाबी और दुबई में खेले गए 18 में से 15 मैच लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम ने जीते. इससे साफ है कि टी20 विश्व कप के दौरान टॉस जीतने वाली टीमें टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी ही करना पसंद करेंगी.

Check Also

विराट की वापसी के बाद साहा शुरु करें पारी : जाफर

मुम्बई (Mumbai) . पूर्व भारतीय बल्लेबाज वसीम जाफर ने कहा है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ …