लखीमपुर कांड में मंत्री के बेटे की गिरफ्तारी न होने पर सुप्रीम कोर्ट नाराज

जांच से संतुष्‍ट नहीं है कोर्ट

नई दिल्‍ली . लखीमपुर खीरी कांड मामले पर आज शुक्रवार (Friday) को सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में सुनवाई हुई. इसमें कोर्ट ने यूपी सरकार को जमकर फटकार लगाई. अब मामले की अगली सुनवाई 20 अक्टूबर को होगी. कोर्ट में यूपी सरकार ने आज स्टेटस रिपोर्ट दाखिल कर दी है. दूसरी तरफ आशीष मिश्रा आज पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच के सामने पेश नहीं हुआ.

इस मामले पर अब दशहरे की छुट्टियों के बाद सुनवाई होगी. कोर्ट ने सुनवाई के दौरान यूपी सरकार को जमकर फटकार लगाई और पूछा कि मामला जब 302 का है तो अब तक गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई. मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को आज क्राइम ब्रांच ने पूछताछ के लिए बुलाया था लेकिन वह नहीं पहुंचा. हरीश साल्वे ने कहा कि आशीष कल 11 बजे तक पेश हो जाएगा.

चीफ जस्टिस ने पूछा आखिर आप क्या संदेश देना चाहते हैं? 302 के मामले में पुलिस (Police) सामान्यतया क्या करती है? सीधा गिरफ्तार ही करते हैं ना! अभियुक्त जो भी हो कानून को अपना काम करना चाहिए!

सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में हरीश साल्वे ने कहा कि किसानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली लगने की बात सामने नहीं आई है. हालांकि, कोर्ट में यूपी सरकार ने यह भी बताया कि घटनास्थल से दो खाली कारतूस मिले थे.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने कहा कि वह मामले की जांच में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से संतुष्ट नहीं है. आगे कहा गया कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार को अपने डीजीपी से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि जब तक कोई अन्य एजेंसी इसे संभालती है तब तक मामले के सबूत सुरक्षित रहें.

साल्वे ने कहा कि अभियुक्त आशीष मिश्रा को नोटिस भेजा गया है वो आज आने वाला था. लेकिन उसने कल सुबह तक का टाइम मांगा है. हमने उसे कल शनिवार (Saturday) सुबह 11 बजे तक की मोहलत दी है. सीजेआई ने पूछा कि जिम्मेदार सरकार और प्रशासन इतने गंभीर आरोपों पर अलग बर्ताव क्यों किया जा रहा है?

कृपया वेबसाइट के संचालन में आर्थिक सहयोग करें

Check Also

भंवरी कांड के मुख्य आरोपी और पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा का निधन

नई दिल्ली (New Delhi) .राजस्थान (Rajasthan) में पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा का रविवार (Sunday) सुबह …