कक्षा 12 के नतीजे से असंतुष्ट विद्यार्थी चाहें तो परीक्षा दे सकेंगे


अहमदाबाद (Ahmedabad) . कक्षा 12 के नियमित विद्यार्थियों के लिए बड़ी खबर आई है. गुजरात (Gujarat) सरकार ने ऐलान किया है कि निर्धारित पद्धति के मुताबिक परिणाम जारी किया जाएगा. लेकिन यदि कोई विद्यार्थी परिणाम से संतुष्ट नहीं होता तो वह परीक्षा दे सकता है. बता दें कि कोरोना संकट के चलते कक्षा 12 के विद्यार्थियों को मास प्रमोशन दिया गया है. मास प्रमोशन से तेजस्वी विद्यार्थियों को झटका लगा है. ऐसे विद्यार्थियों के लिए सरकार ने ऐलान किया है कि वह चाहे तो परीक्षा दे सकते हैं.

मूल्यांकन पद्धति के मुताबिक परिणाम से असंतुष्ट विद्यार्थियों को परीक्षा देने का अवसर दिया जाएगा. किस प्रकार परीक्षा देंगे और उसके लिए क्या करना होगा, इस बारे में गाइडलाइन भी सरकार ने जारी की है. जिसके मुताबिक विद्यार्थियों को मूल्यांकन पद्धति से प्राप्त परिणाम घोषित होने के 15 दिन में बोर्ड में जमा कराना होगा. शिक्षा बोर्ड जल्द ही परीक्षा कार्यक्रम के बारे में ऐलान करेगा. जो विद्यार्थी परिमाण से असंतुष्ट हों और परिणाम शिक्षा बोर्ड में जमा करवाते हैं ऐसे विद्यार्थियों को परीक्षा देने का अवसर दिया जाएगा. परीक्षा देने के बाद परीक्षा का परिणाम ही अंतिम परिणाम होगा और उससे पहले घोषित परिणाम स्वयं रद्द होकर नई मार्कशीट विद्यार्थी की परीक्षा के मूल्यांकन के आधार पर जारी कर दी जाएगी.

2021-06-21
Previous 354 आयुर्वेदिक काढ़े के पैकेट एवं एक हजार तुलसी के पौधों का वितरण
Next धावक मिल्खा सिंह के नाम पर पैराग्लाइडिंग क्लब खोलने की घोषणा

Check Also

महाराष्ट्र में रविवार को कोरोना संक्रमण के 6,843 नए मामले सामने आये

मुंबई (Mumbai) . महाराष्ट्र (Maharashtra) में रविवार (Sunday) को 24 घण्टों में कोरोना (Corona virus) …

Exit mobile version