सिगनेचर बैंक ने ट्रंप के पर्सनल अकाउंट ‎किए बंद

– प्रेसिडेंट पद से हटने के बाद कारोबार पर भी खतरा

वॉशिंगटन . अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कार्यकाल करीब एक हफ्ते का बचा है और उनकी आगे की राह मुश्किल हो सकती है, क्योंकि पिछले हफ्ते कैपिटल हिल में हुई हिंसा के बाद लोग उनकी कंपनियों के साथ काम करने से बच रहे हैं. इसके साथ ही बैंक (Bank) भी उनको झटका देने की तैयारी में हैं. कैपिटल हिल की घटना के बाद सिग्नेचर बैंक (Bank) ने 11 जनवरी से ही डोनाल्ड ट्रंप के पर्सनल अकाउंट्स को बंद करना शुरू कर दिया है1 इसके साथ ही अभी तक यह साफ नहीं है कि आने वाले समय में ट्रंप ऑर्गनाइजेशन को कोई बैंक (Bank) लोन देना चाहेगा या नहीं. पिछले 10 साल में ड्यूश बैंक (Bank) ने डोनाल्ड ट्रंप की कंपनियों को 300 मिलियन डॉलर (Dollar) से ज्यादा का लोन दिया है, लेकिन पिछले महीने ड्यूश बैंक (Bank) में ट्रंप के दो करीबी प्राइवेट बैंकर्स ने इस्तीफा दे दिया था. इसके साथ ही डोनाल्ड ट्रंप की प्रॉपर्टीज पर भी खतरा पैदा हो गया है और इसमें वॉशिंगटन डीसी में पूर्व डाकघर के ऊपर बना होटल (Hotel) है.

सरकारी प्रॉपर्टी में होटल (Hotel) चलाना ट्रंप को अब नुकसान पहुंचा सकता है. हिंसा के बाद कई कंपनियों ने डोनाल्ड ट्रंप से संबंध तोड़ दिए हैं और इसमें प्रोफेशनल गोल्फर्स एसोसिएशन (पीजीए) ने दूरी बना ली है. अब पीजीए अमेरिका ने फैसला किया है कि न्यू जर्सी स्थित ट्रंप के गोल्फ कोर्स में चैंपियनशिप का आयोजन नहीं करेगी. फोर्ब्स के अनुसार, कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) के दौरान डोनाल्ड ट्रंप की कंपनियों को भारी नुकसान हुआ है और उनकी नेटवर्थ 100 करोड़ डॉलर (Dollar) कम हो गई है1 हालांकि इसके बावजूद उनकी नेटवर्थ 2.5 बिलियन डॉलर (Dollar) है. रिपोर्ट के अनुसार ट्रंप परिवार के पास करीब 500 तरह से कारोबार हैं, जिनमें होटल्स, रिसॉर्ट्स और करोड़ों डॉलर (Dollar) के गोल्फ क्लब शामिल हैं. दुनिया के कई देशों में अपने व्यापार को बढ़ाने वाले डोनाल्ड ट्रंप का कारोबार भारत में भी है और उन्होंने मुंबई (Mumbai) के अलावा पुणे (Pune) में ट्रंप टावर बनाए हैं. पुणे (Pune) स्थित टावर को पंचशील डेवलपर्स ने बनाया है और 23 मंजिला टावर देश में पहली ईको फ्रेंडली बिल्डिंग है. इसके अलावा ट्रंप गुड़गांव में एम3एम इंडिया, गुड़गांव में ही इरेओ, कोलकाता (Kolkata) में यूनीमार्क ग्रुप के साथ रियल एस्टेट से जुड़े हैं.

Check Also

डीएसटी के वैज्ञानिकों को स्व-चालित अस्थिरताओं के असंगत व्यवहार का सुराग मिला

नई दिल्ली (New Delhi) . डीएसटी के वैज्ञानिकों को मछली के झुंडों, कीट समूहों, पक्षियों …