पेगासस से पत्नी की जासूसी करवाने के मामले में दुबई के शासक को झटका

दुबई . दुबई के शासक शेख मोहम्‍मद बिन राशिद अल मक्‍तूम को इजरायली सॉफ्टवेयर पेगासस के द्वारा जासूसी करवाने के मामले में बड़ा झटका लगा है. ब्रिटेन की अदालत ने कहा है कि शेख मोहम्‍मद ने अपनी पूर्व पत्‍नी राजकुमारी हाया बिंत अल हुसैन की इजरायली सॉफ्टवेयर की मदद से जासूसी करवाई थी. हाई कोर्ट ने पाया कि लंदन में विवाद‍ित तलाक मामले में सुनवाई के दौरान राजकुमारी हाया और उनके वकीलों के फोन को हैक किया था. शेख मोहम्‍मद यूएई के उपराष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री हैं. कोर्ट के आदेश में कहा गया है, कि दुबई के शासक ने राजकुमारी हाया के फोन को हैक करने के लिए अपनी अनुमति दी थी. वह भी तब जब करोड़ों रुपये का पेगासस सॉफ्टवेयर केवल राष्‍ट्रीय सरकारों के लिए ही उपलब्‍ध था.जज एंड्रयू मैकफारलेन ने कहा कि शेख मोहम्‍मद जिसे हासिल करना सही मानते थे, उसके लिए अपनी सारी सरकारी मशीनरी लगा दी.

जज ने कहा कि कम से कम 6 फोन को निगरानी पर रखा गया था. जज ने कहा कि शेख मोहम्‍मद ने अपनी पूर्व पत्‍नी को न केवल इंग्‍लैंड रवाना होने से पहले प्रताड़‍ित किया, बल्कि उसके बाद भी प्रताड़ना जारी रखी. इससे पहले मार्च 2020 में मैकफारलेन ने यह आशंका जाहिर की थी, कि अरबपति शेख मोहम्‍मद ने अपनी दो बेटियों के अपहरण का आदेश दिया था. राजकुमारी हाया वर्ष 2019 में अपने दो मासूम बच्‍चों अल जलिला और जाएद के साथ लंदन भाग गई थीं. बता दें कि यूएई के उपराष्‍ट्रपति मक्‍तूम की बेटी राजकुमारी लतीफा ने दोस्‍त की मदद से समुद्र के रास्‍ते भागने की कोशिश की थी लेकिन भारत के गोवा तट के पास से उन्‍हें कमांडो उठा ले गए. इसका आरोप भारतीय नौसेना पर लगा था. राजकुमारी लतीफा का फोन नंबर भी पेगासस की जासूसी ल‍िस्‍ट में शामिल था और माना जा रहा है कि इसी वजह से उनके फोन की लोकेशन अरब सागर में मिल गई. इजरायली कंपनी एनएसओ का दावा है कि सॉफ्टवेयर का निर्माण आतंकवाद से निपटने के लिए किया गया है, उसने सऊदी अरब, भारत सहित दुनिया की कई सरकारों को बेचा है. इस इजरायली साफ्टवेयर का इस्‍तेमाल एक ताकतवर बाप ने अपनी बेटी और पत्‍नी पर जासूसी करने के लिए किया.

Check Also

नेपाल में बाढ़ तथा लैंडस्लाइड से 21 लोगों की मौत, 24 लापता

काठमांडू . नेपाल में भारी बारिश की वजह से आई बाढ़ ने तबाही मचाई है. …