गंभीर कोरोना का मरीज एक माह के इलाज के बाद स्वस्थ होकर घर लौटा


उदयपुर (Udaipur). कोरोना संक्रमित गंभीर मरीज को जीबीएच अमेरिकन हॉस्पीटल के आईसोलेशन विंग से एक माह के इलाज से स्वस्थ करके घर भेजा गया. डॉक्टर्स को दावा है कि इस तरह का गंभीर मरीज स्वस्थ होकर लौटने का प्रदेश का पहला मामला है.

पिछले दिनों जीबीएच अमेरिकन हॉस्पीटल में नीमच निवासी 53 वर्षीय व्यक्ति को परिजनों ने लाकर भर्ती कराया था. वह खांसी, जुकाम, बुखार और श्वास लेने में दिक्कत की शिकायत पर नीमच के हॉस्पीटल में भर्ती हुए थे. वहां कोरोना पॉजीटिव रिपोर्ट होने और कोई फायदा नहीं होने पर परिजन उन्हें यहां जीबीएच अमेरिकन हॉस्पीटल लेकर पहुंचे. यहां मरीज का ऑक्सीजन लेवल 45 से 50 प्रतिशत के बीच ही था जबकि सीटी स्कैन स्कोर 25 मे से 25 था. यह स्थिति कोरोना मरीज के लिए गंभीर होती है. मरीज का डायमर टेस्ट रिपोर्ट 15000, आईएल-6 5000 और सीआरपी 700 से अधिक था.

ऐसे में मरीज को कोविड आईसीयू में गहन चिकित्सा विशेषज्ञ एवं आईसीयू प्रभारी डॉ. विजय आमेरा के नेतृत्व में इलाज शुरू किया गया. मरीज मोटापे, ब्लड प्रेशर और थायरोइड की बीमारी से भी ग्रसित थे. इस पर मरीज को एंटीबायोटिक्स, एंटीवायरल, स्टीरोइड्स, खून पतला करने की दवाइयां और प्लाज्मा थैरेपी दी गई. साथ ही मरीज को एनआईवी तकनीक से लगातार ऑक्सीजन देकर ऑक्सीजन लेवल मेंटेन किया गया. इस तरह मरीज को एक माह तक उपचार देकर कोरोना मुक्त किया गया और स्वस्थ करके घर भेजा गया. डॉ. आमेरा ने बताया कि यह उदयपुर (Udaipur) संभाग ही नहीं प्रदेश का पहला मामला होगा जिसमें 25 सीटी स्कैन स्कोर, 45 से 50 ऑक्सीजन लेवल रहा हो और मरीज कोरोना मुक्त होकर स्वस्थ घर लौटा हो.

 

 

Check Also

‘द फ्रीडम हाउस’ की रिपोर्ट खारिज किया केंद्र सरकार ने

नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्र सरकार (Central Government)ने द फ्रीडम हाउस की रिपोर्ट में …