जनजाति विद्यार्थियों को भारत स्काउट गाइड प्रवृति से जोडने को लेकर सेमीनार


उदयपुर (Udaipur). स्काउट गाइड संगठन चरित्र निर्माण ओर सुनागरिकता की पाठशाला है. छात्र (student) जीवन में की गई स्काउटिंग व गुरूओं के मागदर्शन से जीवन रूपी नैया को पार लगा देते है. यह विचार जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के उपायुक्त सुरेश कुमार खटीक ने टीएडी सभागार में जिले के अधीनस्थ सभी राजकीय जनजाति आश्रम छात्रावासों में आवासित एवं अध्ययनरत विद्यार्थियों को भारत स्काउट गाइड प्रवृति से अनिवार्यतः रूप से जोडने के उदेश्य को लेकर आयोजित सेमीनार में बतौर मुख्य अतिथि व्यक्त किए. उन्होंने कहा कि स्काउट गाइड प्रवृति के संचालन से विद्यार्थियों में समय की पाबन्दी, अनुशासन, चरित्र, स्वास्थ्य, कौशल व सेवा के भाव जागृत होते है.

उन्होनें सभी जनजाति आवासीय छात्रावासों में अनिवार्यतः स्काउटिंग गाइडिंग प्रवृति के सक्रिय संचालन ओर प्रत्येक बुधवार (Wednesday) को छात्रावास में स्काउट गाइड प्रवृति का प्रशिक्षण आयोजित करने के निर्देश सभी अधीक्षकों को दिये. सेमीनार में अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी जनजाति डॉ. अमृता दाधीच ने विभागीय लक्ष्यों को समय पर पूरा करने तथा अर्जित उपलब्धियों की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश प्रदान किये. सहायक राज्य संगठन आयुक्त बाबूसिंह राजपुरोहित ने कार्यक्रम के उद्देश्यों पर एवं सीओ गाइड ने विजय लक्ष्मी वर्मा ने संगठन की गतिविधियों के बारे में जानकारी दी. सीओ स्काउट सुरेन्द्र कुमार पाण्डे ने सभी का आभार जताया.

Check Also

8 मार्च को रिलीज होगी वेब सीरीज ‘द मैरिड वुमेन’

जयपुर (jaipur) . निर्माता एकता कपूर की नई वेब सीरीज ‘द मैरिड वुमेन’ 8 मार्च …