भास्कर समूह की तलाशी में छह वर्षों में 700 करोड़ की कर चोरी मिली – आयकर विभाग


नई दिल्ली (New Delhi) . आयकर विभाग ने शनिवार (Saturday) को एक बयान में कहा कि दैनिक भास्कर समूह की तलाशी में छह वर्षों में 700 रूपये करोड़ की आय पर अवैतनिक कर, शेयर बाजार के नियमों का उल्लंघन, और सूचीबद्ध कंपनियों से लाभ की हेराफेरी के सबूत मिले हैं.

आयकर विभाग के अनुसार “खोज के दौरान, यह पाया गया कि समूह अपने कर्मचारियों के नाम पर कई कंपनियों का संचालन कर रहा है, जिनका उपयोग फर्जी खर्चों की बुकिंग और धन के रूटिंग के लिए किया गया है. तलाशी के दौरान, कई कर्मचारी के नाम पते मिले, जिनके नाम शेयरधारकों के रूप में उपयोग किए गए थे.”
बयान में कहा गया “इस तरह की कंपनियों का उपयोग कई उद्देश्यों के लिए किया गया है, जैसे फर्जी खर्चों की बुकिंग और सूचीबद्ध कंपनियों से मुनाफे का हस्तांतरण, निवेश करने के लिए अपनी करीबी कंपनियों में निवेश करना, सर्कुलर लेनदेन करना आदि.” विभाग ने कहा कि उसने सूचीबद्ध कंपनियों के लिए शेयर बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा निर्धारित नियमों का उल्लंघन भी पाया है. मामले में “बेनामी लेनदेन निषेध अधिनियम के आवेदन की भी जांच की जाएगी.”

Check Also

केरल में शीर्ष महंतों ने हिंदू समुदाय हितों की लड़ाई के लिए गठित किया केडीएस फोरम

तिरुवनंतपुरम . केरल (Kerala) में हिंदु समुदाय के हितों के संरक्षण के लिए विभिन्‍न हिंदू …