सैमसंग ने पेश किया पहले से ज़्यादा तेज़ और ट्रु-टू-लाइफ ऑटो-फोकसिंग 1.4μm 50Mp ISOCELL GN2

आधुनिक सेमीकंडक्टर टेक्नोलॉजी की वैश्विक अगुवा सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स ने सैमसंग आइसोसेल GN2 पेश किया है, जो 1.4-माइक्रोमीटर (μm)-आकार के बड़े पिक्सेल के साथ एक नया 50-मेगापिक्सेल (Mp) ईमेज सेंसर है. अपने पूर्ववर्ती आइसोसेल GN1 में बढ़ोतरी के साथ GN2 100Mp तक की ईमेजिंग, डुअल पिक्सेल प्रो टेक्नोलॉजी के माध्यम से बेहतर ऑटो-फोकसिंग, शक्तिशाली स्टैगर्ड HDR, और स्मार्ट ISO प्रो के माध्यम से स्पष्ट नतीजे पेश करता है, चाहे शूट की जगह पर रोशनी की उपलब्धता कैसी भी हो.

 

“आइसोसेल ईमेज सेंसर और इसकी टेक्नोलॉजी ने उच्च श्रेणी के प्रोग्रेड कैमरों की गुणवत्ता और प्रदर्शन का वह स्तर देने के लिए, जो कोई भी उनसे उम्मीद करता है, व्यापक स्तर पर सुधार किए हैं,” सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स में सेंसर बिज़नेस के एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट डकह्युन चांग ने कहा. “हमारे नए आइसोसेल में GN2 में डुअल पिक्सेल प्रो है, जो हर दिशा में ऑटो-फोकस करने वाला एक ऐसा इनोवेटिव सॉल्यूशन है, जो तेज़ी से घटती घटनाओं में से भी आपके मनचाहे पलों को फुर्ती से कैमरे में कैद करने की क्षमता को बढ़ा देता है. स्मार्ट ISO प्रो और विभिन्न प्रकार की आधुनिक पिक्सेल तकनीकों के साथ जुड़कर GN2 ऐसी जीवंत तस्वीरें खींच पाता है, जैसा पहले संभव नहीं था.”

 

जब बात ईमेज रिज़ॉल्यूशन की हो, तो 1/1.12-इंच आइसोसेल GN2 एक उच्चस्तरीय बहुमुखी ईमेज सेंसर है. 1.4μm-आकार के 5 करोड़ पिक्सेल के साथ, GN2 सामान्य सेटिंग में भी ऐसी तस्वीरें देता है, जिनमें बारीकियां असाधारण रूप से स्पष्ट होती हैं. कम रोशनी वाली जगहों में, जैसे कि घर के अंदर यह सेंसर ज्यादा रोशनी इस्तेमाल करने के लिए फोर-पिक्सेल-बिनिंग टेक्नोलॉजी के साथ ज्यादा बड़े 2.8μm-आकार के पिक्सेल देती है, जिससे और ज्यादा तीक्ष्ण और साफ तस्वीरें हासिल होती हैं.

 

वे लोग जो तस्वीरों में ज्यादा ब्यौरे पसंद करते हैं या जिन्हें तस्वीरें क्रॉप करने जैसी पोस्ट-प्रोसेसिंग बहुत पंसद है, उनके लिए GN2 100Mp रिज़ॉल्यूशंस में तस्वीरें लेने का विकल्प मुहैया कराता है. 100 Mp मोड में GN2 एक इंटेलिजेंट रि-मोजैक अल्गोरिथ्म का इस्तेमाल कर अत्यंत सूक्ष्मता से कलर पिक्सेल को फिर से व्यवस्थित करता है, जिसके परिणामस्वरूप 50Mp फ्रेम के तीन अलग-अलग स्तर हरे, लाल और ब्लू रंग में तैयार हो जाते हैं. उसके बाद ये फ्रेम अप-स्केल कर मिला दिए जाते हैं, जिससे एक अकेला अल्ट्रा-हाई 100Mp रिज़ॉल्यूशन का फोटोग्राफ निकलता है.

 

आइसोसेल GN2 डुअल पिक्सेल प्रो देने वाला सैमसंग का पहला ईमेज सेंसर है. यह डुअल पिक्सेल प्रो कंपनी का अब तक का सबसे आधुनिक फेज़-डिटेक्शन ऑटो-फोकस सॉल्यूशन है. ईमेज सेंसर के हर पिक्सेल में दो फोटोडायोड का इस्तेमाल कर डुअल पिक्सेल प्रो अल्ट्रा-फास्ट ऑटो-फोकसिंग के लिए 10 करोड़ फेज़ डिटेक्टिंग एजेंट का उपयोग करता है. साथ ही, यह सॉल्यूशन डुअल पिक्सेल की तरह पिक्सेल को सिर्फ लंबवत (वर्टिकली) रूप से नहीं तोड़ता है, बल्कि तिरछे कोनों को जोड़ने वाली रेखा (डायगोनली) से भी तोड़ता है, जिसके कारण यह सभी दिशाओं से फोकस कर सकता है. यह डायगोनल कट फोकसिंग एजेंट को फ्रेम के शीर्ष और निचले स्तर को बेहतर तरीके से पहचानने में मदद करता है, जिससे उस समय भी सेंसर तुरंत फोकस में आ जाता है, जब क्षैतिज दिशा में पैटर्न में कोई बदलाव न हो. कम रोशनी में गतिमान वस्तुओं पर फोकस करने और उन्हें ट्रैक करने की क्षमता में भी काफी सुधार हुआ है क्योंकि इसमें सेंसर का हर पिक्सेल फोकसिंग एजेंट की तरह काम करता है.

 

मिली-जुली लाइट के माहौल में, जैसे सूर्यास्त के वक्त या घर में जब खिड़की से सूरज की रोशनी अंदर आ रही हो, तब तस्वीर लेने के लिए GN2 स्टैगर्ड HDR फीचर के साथ अपनी डायनेमिक रेंज बढ़ा देता है. स्टैगर्ड HDR एक ऐसी टाइम-मल्टीप्लेक्स्ड HDR टेक्नोलॉजी है, जो रोलिंग शटर को छोटे, मध्यम और लंबे एक्सपोज़र में कई फ्रेम को कैद करने के लिए समान पिक्सेल शृंखला समूह का इस्तेमाल करती है. डायनेमिक रेंज को बढ़ाकर स्टैगर्ड-HDR दृश्य में मौजूद हाईलाइट और कम रोशनी वाली जगहों में तमाम बारीकियों को उभारने और स्पष्ट रंग निखारने का काम करता है, जिसके कारण यह हाई-कंट्रास्ट वाले दृश्यों को शूट करने के लिहाज से एक आदर्श समाधान प्रस्तुत करता है. स्टैगर्ड-HDR एक सेंसर की ऊर्जा खपत को अपने पूर्ववर्ती रियल-टाइम HDR मोड के मुकाबले 24-प्रतिशत तक कम करने में भी सक्षम है, जिसके कारण पूरे सिस्टम की ऊर्जा खपत में सुधार होता है.

 

इस GN2 में स्मार्ट ISO स्मार्ट ISO प्रो भी शामिल हैं. स्मार्ट ISO सेंसर के कंवर्जन गेन को इंटेलीजेंट तरीके से सेट करता है जिससे ऑप्टिमल ISO का इस्तेमाल कर तस्वीर खींचना संभव हो पाता है; बाहर ज्यादा रोशनी में कम ISO और अंदर कम रोशनी में ज़्यादा ISO का प्रयोग. स्मार्ट ISO हर तस्वीर के लिए एक अकेले ISO के रीडआउट का इस्तेमाल करता है, लेकिन इंट्रा-सीन डुअल कंवर्ज़न गेन (iDCG) का इस्तेमाल करने वाला स्मार्ट ISO प्रो ज़्यादा और कम, दोनों ISO से रीडआउट लेता है और कम मोशन-आर्टेफैक्ट्स के साथ तुरंत उच्च डायनेमिक रेंज की तस्वीरें तैयार कर देता है. साथ ही, अत्यंत कम-रोशनी में स्मार्ट ISO प्रो शीघ्रता से उच्च ISO में कई फ्रेम लेकर उन्हें प्रोसेस कर देता है और इस प्रक्रिया में रोशनी के प्रति संवेदनशीलता को 10 लाख ISO के करीब तक बढ़ाकर रात में की जाने वाली फोटोग्राफी को एक नई ऊंचाई तक ले जाता है.

 

GN2 के साथ कैमरा अनुभव और भी ज़्यादा मज़ेदार और रचनात्मक हो सकता है, जहां बहुमूल्य क्षण ज़्यादा नाटकीय ढंग से कैमरे में कैद किए जा सकते हैं और हर दिन की घटनाओं को छोटे वीडियो में बदला जा सकता है. यह GN2 480 फ्रेम-प्रति-सेकेंड (fps) पर फुल-HD वीडियो या 120 fps पर 4K को सपोर्ट करता है, जिससे मोबाइल से वीडियो शूट करने की व्यापक संभावनाएं तैयार होती हैं.

 

सैमसंग आइसोसेल GN2 का उत्पादन अब बड़े पैमाने पर शुरू हो चुका है.

Check Also

मप्र में पिछले 20 दिन में 774 मौतें : 24 घंटे में 13,107 नए केस, 75 मौतें, अप्रैल के अब तक 1.45 लाख लोग हो चुके कोरोना संक्रमित

-अब तक 4,788 मौतें, इसमें से 774 पिछले 20 दिनों में हुईं, पॉजिटिविटी रेट 24 …