पाकिस्तान में लगातार गिर रही रुपए की कीमत

इस्लामाबाद . पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भले ही कितने दावे करें लेकिन उनका मुल्क हर मामले में पिछड़ता जा रहा है. विदेशी संस्थाओं द्वारा कर्ज पर रोक लगाने से पाकिस्तान एक बड़े आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है. यहां की मुद्रा की भी कीमत लगभग खत्म होने के कगार पर है. पाकिस्तानी रुपया अमेरिकी डॉलर (Dollar) के मुकाबले अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है. अमरिकी एक डॉलर (Dollar) के मुकाबले पाकिस्तान के एक रुपए की कीमत महज 0.0058 डॉलर (Dollar) है. यानी इस समय पाकिस्तानी रुपया अमेरिकी डॉलर (Dollar) के मुकाबले 173.18 के स्तर पर चल रहा है. यह गिरावट लंबे समय से चली आ रही है. यह अभी तक की सबसे निचली स्तर बताई जा रही है. अगर भारत से पाकिस्तानी रुपये की तुलना करें तो इसकी कीमत भारतीय मुद्रा बाजार में महज 0.43 रुपए के आसपास बैठती है. पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक (Bank) ने देश की विनिमय दर पर दबाव को कम करने के लिए कई उपाय शुरू किए थे. इसके बाद भी पाकिस्तानी मुद्रा के गिरावट में कोई सुधार नहीं आया है.

देश आर्थिक संकट को देखते हुए डॉलर (Dollar) की मांग भी लगातार बढ़ रही है जिसके चलते पाकिस्तानी करेंसी के मुकाबले डॉलर (Dollar) मजबूत हो रहा है. पाकिस्तान हर मोर्च पर विफल साबित हो रहा है. इन दिनों यह देश बड़े आर्थिक संकट से भी जूझ रहा है. पाकिस्तान को अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए बड़ी मात्रा में विदेशी फंड की जरूरत है. पाकिस्तान को अगले दो सालों के लिए 51.6 बिलियन डॉलर (Dollar) यानी लगभग 3,843 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद की जरूरत है. खस्ताहाल होते पाकिस्तान के बारे में वहां के ही एक स्थानीय अखबारने खुलासा किया है. दैनिक अखबार कहता है कि पाकिस्तान की सकल बाहरी वित्तपोषण मांग 2021-22 में 23.6 बिलियन डॉलर (Dollar) यानी लगभग 1,764 करोड़ रुपए और 2022-23 में 28 बिलियन डॉलर (Dollar) है. पाकिस्तान में यह आर्थिक संकट विदेशों से मिलने वाली आर्थिक मदद पर लगी रोक के बाद पैदा हुआ है.

Check Also

जब स्टोक्स को लगा कि अंत निकट है

ब्रिसबेन . इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स अपनी आक्रामक बल्लेबाजी और गेंदबाजी के लिए जाने …