रोमियो राठोड़ राजस्थानी भाषा मान्यता के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए फिल्म बना रहे

आज का दिन पुरी दुनिया में मात्र भाषा दिवस के रूप में मनाया जा रहा. कही राज्यों में अपनी माँ बोली मायड़ भाषा को मान्यता मिली हुई है पर राजस्थान (Rajasthan)में अपनी मात्र भाषा राजस्थानी को अभी तक मान्यता नहीं मिली हुई है जहा पुरे प्रदेश में साहित्यकार इतिहासकार मान्यता के लिए संघर्ष कर रहे है पर जोधपुर (Jodhpur) जिले के फिल्म अभिनेता रोमियो राठोङ ने राजस्थानी भाषा की मान्यता के लिए फिल्म बना कर आम आदमी की मान्यता की बात फिल्म के माध्यम से सरकार तक पहुंचाना चाहते हैं.

इस अवसर पर म्हारी मायड़ फिल्म का टाइटल सांग प्यारी लागे आ मायड़ भाषा म्हारी सांग को रिलीज किया गया है फिल्म के निर्माता व अभिनेता रोमियो राठोर ने बताया कि यह फिल्म बनाने का मुख्य उद्देश्य राजस्थानी भाषा की मान्यता की बात सरकार तक पहुचांना है फिल्म के निर्देशक दिनेश राजपुरोहित का कहना है कि इस फिल्म से गांवों के घरों में बैठा आम आदमी राजस्थानी भाषा की मान्यता के लिए जागरुक हो सके. हाल ही में जालोर विधायक जोगेश्वर जी गर्ग ने संसद भवन में मायड़ भाषा की मान्यता की आवाज उठाई थी. उन्होने फिल्म में राजस्थानी भाषा को मान्यता दिलाने के लिए मंत्री जी का अभिनय किया गया है.

फिल्म के मुख्य कलाकार रोमियो राठोड़ दिनेश राजपुरोहित व मुस्कान डाबर है म्हाने प्यारी लागे आ म्याड़ भाषा सांग मनोज भुरिया ने लिखा है. दीपक चौहान ने गया है फिल्म का निर्देशक दिनेश राजपुरोहित व सहनिर्देशक मुकेश चौहान ने किया ओर फिल्म निर्माता रोमियो राठोङ के पिता जबर सिंह राठौड़ है. 30 मार्च राजस्थान (Rajasthan)दिवस पर फिल्म रिलीज कि जाएगी.

Check Also

बेटियों के हाथ पीले कर पिता ने कुएं में कूदकर दी जान, मचा कोहरम

सीकर . जिले के पलसाना कस्बे में एक पिता ने अपनी दो बेटियों की शादी …