दुर्गा पूजा पर बांग्लादेश में जगह-जगह छिड़े दंगे मंदिरों में तोड़फोड़ के बाद 3 की मौत

नई दिल्ली (New Delhi) . बांग्लादेश में हिंदुओं के साथ अमानवीय व्यवहार एक बार फिर से खुलकर सामने आ गया है. यहां दुर्गापूजा के दौरान हिंदू मंदिरों में इस कदर तोड़फोड़ की गई कि दंगे भड़क गए. इस दंगे में तीन लोगों के मारे जाने और कई लोगों के घायल होने की खबर है. फिलहाल स्थिति को कंट्रोल करने के लिए बांग्लादेश सरकार ने 22 जिलों में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती कर दी है. ढाका से करीम 100 किलोमीटर की दूरी पर कमिला नाम की जगह पर ईशनिंदा के आरोपों के बाद मंदिर में तोड़फोड़ की गई. खबर के मुताबिक, हिंसक झड़पें बढ़ती देख पुलिस (Police) ने स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश की. रिपोर्ट के मुताबिक, चांदपुर के हाजीगंज, चत्तोरग्राम के बांसखली और कॉक्स बाजार के पेकुआ में भी मंदिरों के अंदर तोड़फोड़ की घटनाएं दर्ज की गईं. ढाका ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक, स्थिति नियंत्रण से बाहर चली गई और एक के बाद एक कई दुर्गा पूजा स्थलों पर दंगे भड़कने लगे. डेली स्टार की खबर के मुताबिक, दंगों में कम से कम तीन लोग मारे गए हैं और कई लोग घायल हो गए हैं. ये तीन मौतें चांदपुर के हाजीगंज इलाके में पुलिस (Police) और भीड़ के बीच हुई झड़प के दौरान हुईं. केंद्रीय धार्मिक मंत्रालय ने मामले को लेकर एक इमरजेंसी (Emergency) नोटिस जारी कर जनता से कानून अपने हाथ में नहीं लेने की अपील की गई है. प्रशासन ने आम लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. अधिकारियों ने कहा है कि अपराधियों को नहीं बक्शा जाएगा. केंद्रीय गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने अधिकारियों को अपराधियों को जल्द से जल्द पकड़ने के आदेश दिए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, स्थिति हाथ से बाहर जाते देख बांग्लादेश सरकार ने देश की पुलिस (Police) रैपिड एक्शन बटालियन की एंटी टेररिजम यूनिट और अर्द्धसैनिक बल यानी बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश को तैनात किया गया है.

Check Also

रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर लोगों से ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली पुलिस (Police) ने रेलवे (Railway)में नौकरी दिलाने के नाम …