कृषि वैज्ञानिक और उसके सहयोगी की हत्याकांड का खुलासा, तीन आरोपी गिरफ्तार


रांची (Ranchi) . झारखंड में गुमला जिला के घाघरा थाना अंतर्गत महदनिया टोली स्थित केला बागान में पिछले दिनों कृषि वैज्ञानिक लोकेश पोटा स्वामी सहित उसके एक सहयोगी की गला रेत करहत्या (Murder) के मामले में पुलिस (Police) ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि एक आरोपी अभी तक फरार है. गिरफ्तार अपराधियों के पास से दो पिस्टल, चाकू, मोटरसाइकिल, मोबाइल और अन्य सामान बरामद किया गया है.

गुमला के पुलिस (Police) अधीक्षक एहतेशाम वकारीब ने सोमवार (Monday) की शाम संवाददाता सम्मेलन बताया कि आनंद तिग्गा उर्फ आनंद उराव अपने तीन सहयोगियों के साथ इस घटना को अंजाम दिया था. उन्होंने बताया गया है कि आनंद उरांव ने अपने तीन सहयोगियों अर्पण उरांव उर्फ तेतरू उरांव उर्फ मैनेजर उरांव और आकाश उरांव तथा बसंत उरांव के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया. बसंत उरांव अभी पुलिस (Police) की पकड़ से फरार है.

मृतक करीब 10 वर्षों से घाघरा में आकर वैज्ञानिक तरीके तरीके से खेती कर यहां के किसानों को प्रेरित कर रहे थे. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शिव कुमार भगत के केला बागान में 23 अगस्त की रात अज्ञात हमलावरों ने कृषि वैज्ञानिक लोकेश पुट्टास्वामी (50) मैसूर (कर्नाटक (Karnataka)) व मत्स्य पालन विशेषज्ञ मडिला देवदासु (51) श्रीरामपुरम कटिवरम श्रीकाकुलम( आंध्रप्रदेश (Andhra Pradesh)) की गला रेत कर निर्ममहत्या (Murder) कर दी थी. इसहत्या (Murder) कांड की गंभीरता को देखते हुए उनके निर्देश पर एसडीपीओ मनीष चंद्र लाल के नेतृत्व में एक विशेष जांच दल का गठन किया गया.

छानबीन के क्रम में पुलिस (Police) को यह जानकारी मिली कि घटना की रात इस क्षेत्र का दुर्दांत अपराधी आनंद तिग्गा उर्फ आनंद उरांव अपने सहयोगियों अर्पण उरांव उर्फ मैनेजर उर्फ तेतरू उरांव व आकाश उरांव को मृतक कृषि वैज्ञानिक लोकेश पुट्टास्वामी के साथ देखा गया है. अनुसंधान के क्रम में 29 अगस्त की शाम आनंद, अर्पण और आकाश को सेन्हा (लोहरदगा) से पीछा किया गया. फिर तीनों को घाघरा थाना क्षेत्र के नाथपुर जंगल से गिरफ्तार किया गया. इनके पास से दो देसी पिस्तौल,गोली,कांड में प्रयुक्त चाकू,मोबाईल फोन,कांड में प्रयुक्त पल्सर मोटर साईकिल बरामद किया गया.

तीनों आरोपितों ने इस दोहरेहत्या (Murder) कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर लिया है. इनके स्वीकारोक्ति बयान के आधार पर गला काटने में प्रयुक्त लोहे का दबिया, मृतक लोकेश की जली हुई मोटर साईकिल,अभियुक्तों का खून लगा हुआ कपड़ा भी बरामद कर लिया गया. पुलिस (Police) ने बताया कि अभियुक्त आनंद तिग्गा ने लूटी गई राशि में से 10 हजार रुपये अपने बहनोई आकाश उरांव के बैंक (Bank) खाते में डलवा दिया था. साथ ही घटना में आकाश उरांव के ही मोटर साईकिल का प्रयोग किया गया था. आकाश उरांव ने ही घटना की रेकी की थी.

Check Also

पीएम मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में अफगान संकट पर संयुक्त दृष्टिकोण अपनाने पर दे सकते हैं बल

नई दिल्ली (New Delhi) . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) इटली में 30 …