सैन्य अस्पताल जोधपुर में पुनर्निर्मित हड्डी रोग वार्ड और तरल ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन

जयपुर. सैन्य अस्पताल जोधपुर (Jodhpur) में पुनर्निर्मित हड्डी रोग वार्ड और तरल ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन समारोह 12 अक्टूबर 2021 को आयोजित किया गया. हमारे वीरों को सम्मानित करने के लिए, वीर नारियों द्वारा पुनर्निर्मित हड्डी रोग वार्ड और तरल ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन किया गया.  ऑर्थोपेडिक वार्ड का उद्घाटन श्रीमती ओम कंवर देवी धर्मपत्नी नायब सूबेदार लाल सिंह खिची, शौर्य चक्र, सेना मैडल द्वारा किया गया था, जिन्होंने 2011 में जम्मू-कश्मीर में कार्रवाई में अपने जीवन का बलिदान दिया था.  तरल ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन श्रीमती भंवरी देवी, धर्मपत्नी हवलदार अमर सिंह, कीर्ति चक्र द्वारा किया गया, जिन्होंने 1981 में इंफाल में आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई में सर्वोच्च बलिदान दिया था.

कोणार्क कोर के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल पीएस मिन्हास ने कोविड के खिलाफ लड़ाई में योगदान और महामारी (Epidemic) के दौरान सम्मानित गौरव सेनानियों को चिकित्सा सुविधाओं पंहुचाने के लिए चिकित्सा बिरादरी के प्रयासों की सराहना की.

कोविड के खिलाफ अपनी लड़ाई में, सैनिक अस्पताल जोधपुर (Jodhpur) ने एक अत्याधुनिक मॉलिक्यूलर लैब की भी स्थापना की, जो सेना के क्षेत्रीय अस्पतालों में अपनी तरह की पहली है.  महामारी (Epidemic) की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की भारी कमी और संकट था.  इस संकट को दूर करने के लिए अस्पताल ने लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना की है जो कोविड मरीजों के इलाज के लिए वरदान साबित होगा.  इस प्लांट की क्षमता 6000 लीटर लिक्विड ऑक्सीजन है जो 51,60,000 लीटर गैसीय ऑक्सीजन देगी और अधिक मांग वाले समय में कम से कम 10 दिनों का ऑक्सीजन बैकअप देने में भी सक्षम है.

नवीनीकरण के बाद स्थापित यह समर्पित ऑर्थोपेडिक वार्ड संपूर्ण कोणार्क कोर में एकमात्र चिकित्सा प्रतिष्ठान है जिसमें हड्डी रोग सर्जन की सुविधा है और इस प्रकार जोधपुर (Jodhpur) के रोगियों के साथ-साथ उदयपुर (Udaipur), माउंट आबू (Mount Abu) , बाड़मेर, जैसलमेर (Jaisalmer) और पोखरण के रेफ़रल रोगी को भी इससे मदद मिलेगी.

Check Also

चिदंबरम बोले, मैं व्यथित हूं- पेगासस जांच समिति में शामिल होने से ‘कई लोगों के इनकार’ से

नई दिल्ली (New Delhi) . वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने गुरुवार …