हालिया अध्ययन : उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम · Indias News

हालिया अध्ययन : उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम

नई दिल्ली (New Delhi) . किशोरावस्था में उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने वाली युवा महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा कम होता है. शोधकर्ताओं का कहना है कि जो महिलाएं उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थ, विशेष रूप से फल और सब्जियों का सेवन करती हैं, उनमें कम फाइबर लेने वाली महिलाओं के मुकाबले स्तन कैंसर का खतरा काफी कम हो सकता है. यह अध्ययन हार्वर्ड टीएच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के शोधकर्ताओं द्वारा किया गया है.

अध्ययन के प्रमुख लेखक मरियम फारविद ने कहा, फाइबर का सेवन और स्तन कैंसर के बीच किए गए पिछले अध्ययन लगभग सभी गैर-महत्वपूर्ण रहे हैं और उनमें से किसी ने किशोरावस्था या शुरुआती वयस्कता के दौरान आहार की जांच नहीं की. किशोरावस्था एक वो अवधि है जब स्तन कैंसर के जोखिम कारक विशेष रूप से महत्वपूर्ण प्रतीत होते हैं. यह अध्ययन शोधकर्ताओं ने 27 से 44 वर्ष की उम्र की 90,534 महिलाओं पर किया गया. घुलने वाले फाइबर पेट में जाकर जेल में बदल जाते हैं जो पाचन क्रिया को धीमा करते हैं.

ये कोलेस्ट्रोल और ब्लड ग्लूकोज को कम करने में मदद करते हैं. खाने में ऐसे आहार को शामिल करें जिसमें प्रचुर मात्रा में घुलनशील फाइबर पाया जाता है. यह फाइबर कैलोरी को सोख लेता है. घुलनशील फाइबर अलसी का बीज, शिराताकी नूडल्स, ब्रसल स्प्राउट, एवोकेडो, फलियां और काले शहतूत आदि के फ़ूड आइटम्स में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है.

Check Also

कलेक्टर के निर्देश पर खाद्य सुरक्षा विभाग कर रहा है प्रतिदिन 100 से अधिक दुकानो का निरीक्षण

भोपाल (Bhopal) . कलेक्टर (Collector) तरूण पिथोड़े के निर्देशन पर खाद्य सुरक्षा विभाग के 5 …