आरबीआई ने मप्र जिला सहकारी केंद्रीय बैंक पर लगाया जुर्माना

नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय रिजर्व बैंक (Bank) (आरबीआई (Reserve Bank of India) ) ने 15 सितंबर को मध्य प्रदेश के जिला सहकारी केंद्रीय बैंक (Bank) मर्यादित पर एक लाख रुपए का जुर्माना लगाया है. बैंक (Bank) ने केवायसी के नियमों का उल्लंघन किया था जिसकी वजह से यह जुर्माना लगाया गया है. हालांकि इसका असर ग्राहकों के ट्रांजैक्शन पर नहीं होगा. आरबीआई (Reserve Bank of India) की जांच रिपोर्ट में पता चला है कि बैंक (Bank) ने जरूरी दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया है. आरबीआई (Reserve Bank of India) ने पिछले कुछ समय में 6 कोऑपरेटिव बैंकों पर जुर्माना लगाया है. ऑपरेटिव बैंकों पर डुअल रेगुलेशन और स्थानीय राजनीतिक हस्तक्षेप भी रहता है. आरबीआई (Reserve Bank of India) ने नियमों का उल्लंघन करने के कारण एक्सिस बैंक (Bank) पर 28 जुलाई को 5 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया था. आरबीआई (Reserve Bank of India) की ओर से एक्सिस बैंक (Bank) की वैधानिक जांच में बैंक (Bank) की ओर से विशेष प्रावधानों का पालन नहीं करने का पता चला था इनमें कुछ संदिग्ध ट्रांजैक्शंस से जुड़ी बैंक (Bank) की रिपोर्ट भी शामिल थी. इस बारे में एक्सिस बैंक (Bank) को नोटिस जारी कर आरबीआई (Reserve Bank of India) ने पूछा था कि प्रावधानों का पालन करने मे नाकाम रहने के कारण बैंक (Bank) पर पेनाल्टी क्यों नहीं लगाई जानी चाहिए. एक्सिस बैंक (Bank) की ओर से दिए गए नोटिस के उत्तर और व्यक्तिगत सुनवाई के दौरान दी गई जानकारी पर विचार करने के बाद आरबीआई (Reserve Bank of India) ने नियमों का पालन नहीं करने के कारण एक्सिस बैंक (Bank) पर वित्तीय जुर्माना लगाने का फैसला किया है.

Check Also

पेट्रोल और डीजल महंगा

नई ‎दिल्ली . घरेलू बाजार में गुरुवार (Thursday) को लगातार दूसरे दिन पेट्रोल (Petrol) और …