पीएम मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन पर राहुल गांधी का तंज · Indias News

पीएम मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन पर राहुल गांधी का तंज


नई दिल्ली (New Delhi). कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन पर शायराना अंदाज में तंज कसा है. राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा है कि…’तू इधर उधर की न बात कर, ये बता कि काफिला कैसे लुटा. मुझे रहज़नों से गिला तो है, पर तेरी रहबरी का सवाल है. वहीं, पीएम के राष्ट्र के नाम संबोधन पर कांग्रेस पार्टी ने कहा है कि प्रधानमंत्री को अनियोजित लॉकडाउन (Lockdown) से देशवासियों को हुए फायदे बताने चाहिए. कोरोना नियंत्रण के लक्ष्य में तो लॉकडाउन (Lockdown) पूर्णतया विफल साबित हुआ है. देश जानना चाहता है कि अनियोजित लॉकडाउन (Lockdown) के तय लक्ष्यों को देश पा सका है या नहीं?

बता दें कि राष्ट्र के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार का ऐलान किया. पीएम ने कहा कि इस योजना का विस्तार करते हुए इसे नवम्बर महीने के आखिर तक कर दिया गया है. इससे 80 करोड़ लोगों को और पांच महीनों तक मुफ्त राशन मिलेगा. राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने ये घोषणा की और देशवासियों से अपील की कि वे अनलॉक-2 में लापरवाही ना बरतें. उन्होंने कहा कि सारी एहतियात बरतते हुए आर्थिक गतिविधियों को आगे बढ़ाया जाएगा तथा हिन्दुस्तान को आत्मनिर्भर बनाने के लिए दिन-रात एक कर दिया जाएगा.

उन्होंने कहा, त्योहारों का समय जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है. इन सभी बा तों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए. उन्होंने कहा कि 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली यह योजना अब नवंबर तक लागू रहेगी. इस दौरान सरकार (Government) 80 करोड़ से ज्यादा गरीब भाई-बहनों को हर महीने पांच किलो गेहूं या पांच किलो चावल मुफ्त मुहैया करायेगी. उन्होंने कहा, साथ ही प्रत्येक परिवार को हर महीने 1 किलो चना भी मुफ्त दिया जाएगा. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस अन्न योजना के विस्तार में 90,000 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च होंगे.

Check Also

ताहिर हुसैन ने दंगों में दंगाइयों का इस्तेमाल मानव हथियार की तरह किया : कोर्ट

नई दिल्ली (New Delhi). दिल्ली की एक अदालत ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सांप्रदायिक हिंसा के …