नई दिल्ली, 31 मार्च . कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दिल्ली के रामलीला मैदान में इंडिया ब्लॉक की ‘लोकतंत्र बचाओ’ रैली में भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए आगामी लोकसभा चुनाव के लिए “मैच फिक्सिंग” का आरोप लगाया.

राहुल गांधी ने कहा, “भाजपा क्रिकेट की तरह फिक्सिंग रणनीति का सहारा ले रही है, जहां अंपायरों को चुना जाता है, खिलाड़ियों को खरीदा जाता है और कप्तानों को धमकी दी जाती है. उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के रूप में अपने अंपायर को चुना है, और हाल ही में प्रमुख विपक्षी हस्तियों की गिरफ्तारी हुई है. झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इस सुनियोजित रणनीति का हिस्सा हैं.”

क्रिकेट के मैच फिक्सिंग घोटालों की तुलना करते हुए, गांधी ने कहा: “आज आईपीएल मैच चल रहे हैं. जब अंपायर दबाव में आते हैं, खिलाड़ियों को बरगलाया जाता है, और जीत सुनिश्चित करने के लिए कप्तानों को मजबूर किया जाता है, तो इसे मैच फिक्सिंग करार दिया जाता है. इसी तरह, जैसे-जैसे हम लोकसभा चुनाव में आगे बढ़ रहे हैं, खेल को अपने पक्ष में करने के लिए बीजेपी हेराफेरी कर रही है.”

कांग्रेस नेता ने विपक्ष के सामने आने वाली चुनौतियों पर भी रौशनी डाली और कहा: “ईवीएम के दुरुपयोग, सुनियोजित मैच फिक्सिंग, सोशल मीडिया में हेरफेर और प्रेस पर दबाव डाले बिना भाजपा 180 से अधिक सीटें हासिल नहीं कर सकती.”

रैली का आह्वान आम आदमी पार्टी (आप) ने किया था, जो कि इंडिया ब्लॉक का हिस्सा है.

रैली में कांग्रेस नेता सोनिया गांधी, राहुल गांधी, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और शरद पवार, सीपीएम नेता सीताराम येचुरी, कांग्रेस प्रमुख मल्लियार्जुन खड़गे, कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान, कल्पना सोरेन (हेमंत सोरेन की पत्नी), समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव, नेशनल कॉन्फ्रेंस प्रमुख फारूक अब्दुल्ला, पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव, और गोपाल राय सहित आप नेता शामिल हुए.

रैली के दौरान समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, “आपने निर्वाचित मुख्यमंत्रियों को जेल में डाल दिया है, जिसकी न केवल भारत के भीतर बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी आलोचना हो रही है.”

सीपीआई-एम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि आजादी की पुकार अब गूंज रही है. “हमारे संविधान और गणतंत्र की रक्षा करना हमारी स्वतंत्रता का प्रतीक है. हम यह आजादी हासिल करेंगे.”

/