564.17 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान की खरीद हुई


नई दिल्ली (New Delhi) . वर्तमान खरीफ विपणन सीजन (केएमएस) 2020-21 के दौरान, सरकार ने अपनी मौजूदा न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) योजनाओं के अनुसार किसानों से एमएसपी पर खरीफ 2020-21 फसलों की खरीद जारी रखी है.

खरीफ 2020-21 के लिए धान की खरीद पंजाब, हरियाणा (Haryana) , उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, उत्तराखंड, तमिलनाडु (Tamil Nadu), चंडीगढ़, जम्मू (Jammu) और कश्मीर, केरल (Kerala), गुजरात (Gujarat), आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल (West Bengal) जैसे राज्यों/ केंद्र-शासित प्रदेशों में सुचारु रूप से चल रही है. 16.01.2021 तक 564.17 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान की खरीद की जा चुकी है. यह पिछले वर्ष की समान अवधि के 450.42 एलएमटी की खरीद की तुलना में 25.25 प्रतिशत अधिक है.

564.17 लाख मीट्रिक टन की कुल खरीद में से अकेले पंजाब (Punjab) ने 202.77 लाख मीट्रिक टन का योगदान दिया है, जो कुल खरीद का 35.94 प्रतिशत है.वर्तमान में जारी केएमएस खरीद संचालन के तहत 106516.31 करोड़ रुपये मूल्य के धान की खरीद की गयी है और इससे लगभग 79.24 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं. इसके अलावा, राज्यों से प्रस्ताव के आधार पर खरीफ विपणन सीजन 2020 के लिए तमिलनाडु (Tamil Nadu), कर्नाटक (Karnataka), महाराष्ट्र, तेलंगाना, गुजरात (Gujarat), हरियाणा (Haryana) , उत्तर प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान (Rajasthan)और आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh)राज्यों से मूल्य समर्थन योजना (पीएसएस) के तहत 51.66 लाख मीट्रिक टन दलहन और तिलहन की खरीद के लिए मंजूरी दी गई थी.

इसके अलावा, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक (Karnataka), तमिलनाडु (Tamil Nadu) और केरल (Kerala) राज्यों के लिए कोपरा (बारहमासी फसल) की 1.23 लाख मीट्रिक टन की खरीद को भी मंजूरी दी गई. इसके अलावा, गुजरात (Gujarat) और तमिलनाडु (Tamil Nadu) राज्यों के लिए रबी विपणन सीजन 2020-2021 के दाल और तिलहन के 2.50 लाख मीट्रिक टन की खरीद को मंजूरी दी गई.

Check Also

तमिलनाडु में सत्तारूढ़ पार्टी AIADMK की PMK के साथ सीटों पर समझौते को लेकर बातचीत

चेन्नई (Chennai) . तमिलनाडु (Tamil Nadu) की सत्तारूढ़ पार्टी एआईएडीएमके की पीएमके के साथ सीटों …