लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसानों के अतिम अरदास में शामिल होंगी प्रियंका गांधी

नई दिल्ली (New Delhi) . कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आगामा उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) की बिगुल फूंक चुकी है. वह फिलहाल किसी भी मौके को हाथ से नहीं जाने के मूड में है. यही वजह है कि उन्होंने बिना समय गंवाए अपने भाई और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ लखीमपुर कांड के पीड़ितों से मिलने की योजना बना ली. वहां हिंसा में मारे गए किसानों का अंतिम अरदास है. प्रियंका गांधी भी इसमें शामिल होने के लिए लखीमपुर खीरी पहुंच रही हैं. हालांकि भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के पदाधिकारी के अनुसार, किसी भी राजनीतिक दल के राजनेता को मंगलवार (Tuesday) की अंतिम प्रार्थना में किसान नेताओं के साथ मंच साझा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. वहां केवल संयुक्त किसान मोर्चा के नेता मौजूद रहेंगे. आपको बता दें कि लखीमपुर-खीरी के तिकुनिया में अंतिम अरदास और अस्थि कलश यात्रा को लेकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. इसके लिए पर्याप्त पुलिस (Police) फोर्स लगाए गए हैं. पीएसी, पैरामिलिट्री, आरएपफ और एसएसबी को भी शहर से लेकर तिकुनिया तक मुस्तैद किया गया है. ड्रोन कैमरों से निगरानी रहेगी. लखीमपुर कांड में मारे गए किसानों लवप्रीत सिंह, नछत्तर सिंह, दलजीत सिंह और गुरविंदर सिंह के लिए अंतिम अरदास होनी है. इसके अलावा पत्रकार रमन कश्यप के लिए भी प्रार्थना सभा होगी. अंतिम अरदास का कार्यक्रम तिकुनिया में रखा गया है. जिसमें भारी संख्या में किसानों के जुटने की संभावना है. आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह और एडीजी जोन एसएन सावत जिले में कैंप कर रहे हैं. इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था में पांच आईपीएस, पांच एएसपी और आठ सीओ लगाए गए हैं. बड़ी संख्या में इंस्पेक्टर और दरोगाओं को भी लगाया गया है.

Check Also

एक्ट्रेस से ड्रग्स को लेकर बात कर रहे थे आर्यन

मुंबई (Mumbai) . ड्रग्स केस में बॉलीवुड (Bollywood) के सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन …