निजी अस्पताल कोरोना पीडि़तों की सेवा करके पुण्यार्जन करें


उदयपुर (Udaipur). जिला कलक्टर (District Collector) चेतन देवड़ा ने कहा है कि वर्तमान में कोरोना की दूसरी लहर के प्रसार के हालातों में पीडि़तों की संख्या में वृद्धि होने की संभावना है, ऐसे में निजी अस्पताल प्रबंधन को चाहिए कि वे किसी भी मरीज का इलाज करने से मना नहीं करें व लोगों का जीवन बचाने के लिए पूरी संवेदनशीलता के साथ चिकित्सा सेवाएं दें और पुण्यार्जन करें. जिला प्रशासन इस कार्य में निजी अस्पतालों को हरसंभव सहयोग करने के लिए तत्पर है.

कलक्टर देवड़ा सोमवार (Monday) को यहां नगर निगम बैठक सभागार में निजी अस्पतालांे के प्रतिनिधियों, निजी अस्पतालों में नियुक्त नोडल ऑफिसर्स और संबंधित चिकित्साधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे. बैठक में एडीएम सिटी अशोक कुमार, एडीएम प्रशासन ओपी बुनकर, नगर निगम आयुक्त हिम्मतसिंह बारहठ, सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी और समस्त निजी अस्पतालों के प्रतिनिधि, नोडल ऑफिसर्स और अन्य संबंधित चिकित्साधिकारी मौजूद थे.

तय दर से अधिक राशि ली तो होगी कार्यवाही: बैठक में कलक्टर देवड़ा ने कहा कि राज्य सरकार (State government) द्वारा निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों से लिए जाने वाली दरों का निर्धारण कर रखा है, ऐसे में किसी भी अस्पताल के विरूद्ध यदि ऑवर बिलिंग या ऑवर चार्जिंग की शिकायत पाई जाती है तो उनके विरूद्ध नियमानुसार सख्त कार्यवाही की जाएगी. इससे पूर्व सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी ने बताया कि निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों का 12 से 15 हजार खर्च पाया गया है जबकि सरकार द्वारा निर्धारित दर 9000 से 9900 निर्धारित की गई है.

निजी अस्पतालों को बेड संख्या बढ़ाने के निर्देश:  इस मौके पर कलक्टर देवड़ा ने एक-एक कर समस्त निजी अस्पतालों के प्रतिनिधियों और नियुक्त आरएएस नोडल ऑफिसर्स से अस्पतालों में उपलब्ध सुविधाओं की समीक्षा की. उन्होंने अस्पतालों में बेड की उपलब्धता, ऑक्सीजन सिलेंडर्स की स्थिति व उपयोग, आईसीयू और वेंटीलेटर्सयुक्त बेड की उपलब्धता, रेमडेसीविर इंजेक्शन और अन्य दवाईयों की उपलब्धता, सरकारी गाईडलाईन के अनुसार बिलींग, सेंपलिंग और भर्ती मरीजों की स्थिति तथा होम आईसोलेट मरीजों के स्टेटस पर जानकारी प्राप्त की. कलक्टर ने समस्त अस्पतालों को निर्देश दिए कि आने वाली स्थितियों को देखते हुए अपने-अपने अस्पताल में पर्याप्त संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित करें और बेड की संख्या में इज़ाफा करें ताकि हर मरीज को बेहतर से बेहतर इलाज मुहैया करवाया जा सके.

वेबसाईट को अपडेट करना जारी रखें: कलक्टर देवड़ा ने कहा कि पूर्व में जिले में कोरोना का इलाज करने वाले चिकित्सालयांें में बेड-डॉक्टर्स व दवाईयों की उपलब्धता के साथ अस्पताल का रोडमेप उपलब्ध कराने वाली वेबसाईट बहुत उपयोगी साबित हुई थी, इस वेबसाईट को सभी नोडल ऑफिसर्स निरंतर अपडेट रखें ताकि कोरोना मरीजों को इलाज के लिए सुविधा उपलब्ध हो सके.  उन्होंने हेल्थकेयर आर्मी गु्रप पर कोरोना इलाज, संसाधनों की उपलब्धता और इससे जुड़ी समस्याओं पर जानकारी मुहैया करने के भी निर्देश दिए.

वेक्सीनेशन का डाटा ऑनलाईन अपडेट करें: बैठक दौरान कलक्टर देवड़ा ने 45 वर्ष और इससे अधिक आयुवर्ग वाले लोगों के वेक्सीनेशन का डाटा ऑनलाईन उसी दिन अपडेट करने के निर्देश दिए और समस्त निजी अस्पतालों को उनके स्टाफ के परिवारजनों इत्यादि के लिए विशेष केंप लगाते हुए शत प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल करने में सहयोग करने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि निर्देशानुसार वर्ष 1976 या इससे पहले जन्म लेने वाले व्यक्ति को ही टीका लगाना है.

Check Also

उदयपुर में संक्रमण की चैन तोड़ने कारगर होगा सर्वे :  साढ़े पांच हजार घरों का सर्वे कर लगभग 29 हजार लोगों की स्क्रीनिंग की

उदयपुर (Udaipur). जिले में संक्रमण को रोकने हेतु चिकित्सा विभाग पूर्ण मुस्तैदी के साथ तत्पर …