सत्ता मेरे लिए नशा नहीं, मदद करने का माध्यम : राहुल गांधी

Photo of author

लखनऊ, 10 मई . कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि सत्ता मेरे लिए नशा नहीं है, यह उनके लिए लोगों की मदद करने का माध्यम है.

राहुल गांधी शुक्रवार को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में विभिन्न सामाजिक संगठनों की ओर से आयोजित राष्ट्रीय संविधान रक्षा और न्याय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा, “कुछ लोग सुबह उठते हैं और सत्ता पाने के लिए जुट जाते हैं. मैं सत्ता के बीच पैदा हुआ हूं, इसलिए मैं सत्ता के लिए नहीं, लोगों के लिए काम करना चाहता हूं. क्योंकि, मेरे लिए यह मदद का माध्यम है.”

उन्होंने कहा कि जातीय जनगणना से देश के 90 फीसदी लोगों को संसाधनों में हिस्सेदारी मिलेगी. 90 फीसदी लोगों को दबाया नहीं जा सकता. संविधान लोगों को ताकत देता है. संविधान ने हम सभी को अधिकार दिया है. संविधान की रक्षा के लिए हमें लड़ना होगा.

उन्होंने कहा, “ईडी-सीबीआई का दुरुपयोग किया जा रहा है और संविधान पर आक्रमण हो रहा है. जो लोग संविधान खत्म करने की सोच रहे हैं, मैं उनसे कहना चाहता हूं कि संविधान खत्म नहीं होगा. संविधान बचाने के लिए लोग लड़ते रहे हैं और आगे भी लड़ते रहेंगे.”

विकेटी/एबीएम