लखनऊ में राहुल और प्रियंका के खिलाफ लगे पोस्टर

लखनऊ (Lucknow) . कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के लखीमपुर जाने को लेकर गतिरोध अब खत्‍म हो गया है. पहले मनाही, फिर इजाजत सके बाद एयरपोर्ट पर गाड़ी और रूट को लेकर जद्दोजहद. राहुल के सीतापुर से होते हुए लखीमपुर जाने को लेकर बुधवार (Wednesday) को सुबह से सियासी हलचल मची रही. इससे पहले आज लखनऊ (Lucknow) और तमाम शहरों में में राहुल और प्रियंका गांधी के खिलाफ होर्डिंग्स लगाई गई. ये होर्डिंग्स सिख संगठनों की ओर से लगाए गए हैं.

इन पोस्टर में लिखा है कि राहुल गांधी वापस जाओ, प्रियंका गांधी वापस जाओ. 1984 के सिख दंगों के जिम्मेदारों से लखीमपुर के किसानों को सहानुभूति नहीं चाहिए. वहीं, आज सुबह लखनऊ (Lucknow) के लिए रवाना होने से पहले राहुल गांधी ने बुधवार (Wednesday) को दिल्ली में कांग्रेस दफ्तर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान राहुल गांधी ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि वह किसानों पर व्यवस्थित तरीके से हमले कर रही है. उन्होंने कहा कि वह लखीमपुर जाकर जमीनी वास्तविकता समझना चाहते हैं, इसलिए वह लखनऊ (Lucknow) जा रहे हैं. राहुल ने कहा कि सरकार अन्य दलों को वहां जाने दे रही लेकिन उन्हें रोक रही है. धारा 144 पांच से अधिक लोगों पर लागू होती है. हम लखीमपुर खीरी जाकर सरकार पर दबाव बनाना चाहते हैं. लखीमपुर खीरी जाने के लिए लखनऊ (Lucknow) एयरपोर्ट पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अपने वाहन से जाने की इजाजत नहीं मिलने के विरोध में हवाई अड्डा परिसर में धरने पर बैठ गए. हालांकि कुछ देर बाद उनकी गाड़ी को इजाजत मिली और वह लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हुए. राहुल गांधी के साथ पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) चरणजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) भूपेश बघेल भी हैं.

Check Also

सोने , चांदी की कीमतों में गिरावट

नई दिल्ली (New Delhi) . घरेलू बाजार में बुधवार (Wednesday) को सोने, चांदी (Silver) की …