संविदाकर्मियों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, कई प्रदर्शनकारी घायल

रांची (Ranchi) . रांची (Ranchi) में सेवा विस्तार की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे संविदाकर्मियों पर पुलिस (Police) ने जमकर लाठी चार्ज ‎किया. इस दौरान कई प्रर्दशनकारी घायल हो गए. दरअसल, प्रदर्शनकारी शुक्रवार (Friday) को मुख्यमंत्री (Chief Minister) आवास का घेराव करने जा रहे थे. इस वजह से पुलिस (Police) ने बिरसा चौक पर उन्हें रोकने की कोशिश, ले‎किन वह नहीं माने. इसके बाद पुलिस (Police) ने संविदाकर्मियों पर लाठी बरसानी शुरु कर दी. जिससे कई प्रदर्शनकारी घायल हो गये,‎ जिनमें कुछ महिलाएं भी शामिल हैं. इन संविदाकर्मियों की नियुक्ति 14वें वित्त आयोग के तहत हुआ था. संविदाकर्मियों ने बताया कि राज्यभर के हर प्रखंड में दो कनीय अभियंता और प्रत्येक तीन पंचायत पर एक लेखा लिपिक सह कंप्यूटर ऑपरेटर की नियुक्ति सरकार ने की थी. इन सभी का कार्यकाल 31 मार्च 20 को खत्म होने के बाद सरकार पहले 3 महीने फिर 6 महीने विस्तार देकर इनसे सेवा लेती रही.

उन्होंने कहा ‎कि अब सरकार आउटसोर्सिंग से जूनियर इंजीनियर और कम्प्यूटर ऑपरेटर्स 15 वें वित्त आयोग के तहत नियुक्त करने जा रही है. इसी से नाराज राज्यभर के संविदाकर्मी गोलबंद होकर सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं. पुलिस (Police) लाठीचार्ज में घायल संविदाकर्मी विकास कुमार ने कहा कि हेमंत सरकार राज्य के इंजीनियर्स को पलायन करने पर मजबूर कर रही है. केन्द्र सरकार के द्वारा राज्य सरकार (State government) को संविदा बढ़ाने की सहमति दे दी है. इसके बाबजूद राज्य सरकार (State government) उदासीन बनी हुई है. एक तरफ राज्य सरकार (State government) रोजगार देने की बात कह रही है, वहीं दूसरी तरफ वर्षों से कार्यरत लोगों को बेरोजगार बनाया जा रहा है. इसके खिलाफ आंदोलन और उग्र किया जाएगा. बता दें कि 14वें वित्त आयोग के तहत सरकार ने राज्यभर में करीब 1600 जूनियर इंजीनियर्स और लेखा लिपिक नियुक्त किये थे. अब इनको सेवा विस्तार देने के मूड में सरकार दिखाई नहीं दे रही.

Check Also

डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस की कीमत में बढ़ोत्तरी के खिलाफ जेएमएम का 28 को मशाल जुलूस

रांची (Ranchi) . झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महासचिव सह प्रवक्ता विनोद कुमार पापंडेय ने …