पीओके हमारा है और हम उसे लेकर रहेंगे : शिवराज सिंह चौहान

Photo of author

नई दिल्ली, 15 मई . मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को दिल्ली में अरविंद केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा कि हमने दुर्गा सप्तशती में पढ़ा है कि एक राक्षस रक्तबीज था, युद्ध में जहां-जहां उसका खून गिरता था, उस खून की एक बूंद से और एक रक्तबीज पैदा हो जाया करता था. वह रक्तबीज था, लेकिन सीएम अरविंद केजरीवाल तो भ्रष्टबीज हैं, जहां-जहां उनकी पार्टी जीतती है, वहां-वहां भ्रष्टाचार का तंत्र ही खड़ा हो जाता है.

उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने दिल्ली को कितना लूटा, कोई कल्पना नहीं कर सकता था कि अन्ना हजारे के आंदोलन की उपज केजरीवाल, शराब घोटाले में शामिल होंगे. वह शराब ऐसी कि जिसने लोगों की जिंदगी तबाह कर दी.

शिवराज ने दिल्ली में दो लोकसभा सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों के समर्थन में चुनाव प्रचार किया. उन्‍होंने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में आयोजित दलित महासम्मेलन में शिरकत की और चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र में युवा संवाद कार्यक्रम को संबोधित किया.

शिवराज ने कहा कि पाकिस्तान ने हमला किया था जम्मू-कश्मीर पर, हमारी सेनाएं बहादुरी के साथ लड़ रही थी, अगर तीन दिन और युद्ध विराम नहीं होता तो पीओके होता ही नहीं, सारा का सारा कश्मीर हमारा होता. कांग्रेस और पंडित जवाहरलाल नेहरू ने पाप किया और युद्धविराम कर दिया, जिस कारण पीओके पाकिस्तान में रह गया. आज भारतीय जनता पार्टी का संकल्प है कि अब पीओके हमारा है और हम उसे लेकर रहेंगे, वो भारत का अभिन्न अंग है.

उन्होंने कहा कि ये एतिहासिक भूल, अपराध और पाप है, जो पंडित जवाहरलाल नेहरू ने किया. क्या-क्या नहीं किया, एक देश में दो निशान, दो विधान, दो प्रधान कौन लेकर आया. कश्मीर हमारा था, हम लोग नारे लगाते रहे कि एक देश में दो निशान, दो विधान, दो प्रधान नहीं चलेंगे, लेकिन कांग्रेस ने ये पाप किया और धारा 370 लगा दी.

उन्होंने कहा, “मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रणाम करता हूं कि उन्होंने एक झटके में धारा-370 खत्म करके देश से दो निशान, दो विधान, दो प्रधान हटा दिए.”

शिवराज ने कहा कि आजादी के बाद कांग्रेस सत्ता में आई तो सबसे पहले उन्होंने हमारे शहीदों का अपमान किया. इस देश का इतिहास भी गलत पढ़ाया. हमको पढ़ाया गया कि हिंदुस्तान को आजादी महात्मा गांधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा ने दिलाई. मैं बापू जी के योगदान को अस्वीकार नहीं करता, लेकिन हम भूल गए महारानी लक्ष्मी बाई को, हम भूल गए तात्या टोपे को, नाना साहब पेशवा को, वासुदेव बलवंत खड़गे को, अमर शहीद कुंवर सिंह को, लाला लाजपत राय को, लोकमान्य तिलक को, खुदीराम बोस को, अमर शहीद उधम सिंह को, शहीदे आजम भगत सिंह को, चंद्रशेखर आजाद को, सुखदेव को, राजगुरु को, दुर्गा भाभी को, अशफाक उल्लाह खान को, नेताजी सुभाष चंद्र बोस को, वीर सावरकर को, हम इन्हें भूल गए. कांग्रेस ने ये पाप किया है कि हमें इन वीर योद्धाओं के बारे में नहीं पढ़ाया.

शिवराज ने कहा कि लोकसभा चुनाव में तीन चीजें देखी जाती हैं. पहला, प्रधानमंत्री कौन है, दूसरा पार्टी कौन सी है और तीसरा उम्मीदवार कौन है. भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री तो तय हैं नरेंद्र मोदी. मोदी जी अभी भी हमारे प्रधानमंत्री हैं और रहेंगे, लेकिन कांग्रेस और इंडी गठबंधन बताए कि उनका प्रधानमंत्री कौन होगा.

उन्होंने कहा कि भगवान राम की जन्मभूमि आयोध्या में दिव्य और भव्य राममंदिर का निर्माण हुआ, पूरा देश आनंद उत्सव में डूबा हुआ था, लेकिन केवल एक पार्टी कांग्रेस रो रही थी. पीएम मोदी ने पिछले 10 वर्षों में अद्भुत काम किए हैं. कांग्रेस के जमाने में दुनिया में कहीं भी भारत का कोई मान-सम्मान नहीं था. भारत को घपले-घोटालों का देश कहा जाता था.

जीसीबी/एबीएम