भोपाल, 2 अप्रैल . भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने मध्य प्रदेश प्रवास के दौरान विपक्षी दलों के गठबंधन पर जमकर हमला बोला और आरोप लगाया कि उनका गठबंधन परिवारवाद और भ्रष्टाचार के लिए है. विपक्षी परिवारवाद और तुष्टीकरण करते हैं. मगर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विकास की राजनीति की शुरुआत की है.

भाजपा अध्यक्ष ने जबलपुर और शहडोल के कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया. उन्होंने इन कार्यक्रमों में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को देश की जनता लगातार तीसरी बार प्रचंड बहुमत से विजयी बनाएगी. कांग्रेस सरकार समाज को जाति के आधार पर बांटकर तुष्टिकरण की राजनीति करती थी. प्रधानमंत्री मोदी ने जातिवाद को समाप्त कर समाज को एक सूत्र में बांधकर ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्‍वास और सबका प्रयास’ के मंत्र को लेकर विकास की राजनीति की शुरुआत की. राजनीति की इस नई संस्कृति में विकास को अहम दर्जा मिला है.

उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस के दौर में महिलाओं, आदिवासियों, युवाओं, किसानों की उपेक्षा हुई. भाजपा सरकार में महिलाओं का सशक्तीकरण हुआ, किसानों को ताकत मिली, युवाओं की आकांक्षाओं को पंख लगे और गांव-गरीब के विकास में योगदान हुआ. प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में आदिवासियों के विकास के लिए बजट को तीन गुना बढ़ाया गया है.

जेपी नड्डा ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस ने ऐसी मानसिकता बना दी थी, जहां लोगों को एहसास होने लगा कि अब कुछ नहीं होने वाला, देश ऐसे ही चलता रहेगा और कोई बदलाव देखने को नहीं मिलेगा. लेकिन, प्रधानमंत्री मोदी के 10 साल के कार्यकाल में जन-जन के मन में ये विश्‍वास आया है कि देश में बदलाव हो सकता है, बदलाव हुआ है और आगे भी बदलाव होगा. पीएम मोदी ने राजनीति की संस्कृति में परिवर्तन लाया है.

उन्होंने कहा कि कोविड शताब्दी की सबसे बड़ी महामारी थी और कोई अंदाजा नहीं लगा सकता था कि आगे क्या होने वाला है. सभी पश्चिमी देश अपनी अर्थव्यवस्था और मानवता के बीच एक को चुनने के लिए दुविधा में थे, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने ‘जान है तो जहान है’ का नारा देते हुए संपूर्ण देश में लॉकडाउन लगाने का कठोर निर्णय लिया. इस दौरान उन्होंने पूरे देश को तैयार किया और लॉकडाउन हटाकर देश को आगे बढ़ाते हुए अपने ‘जान भी है और जहान भी है’ के नारे को चरितार्थ किया.

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि पूर्व की सरकारों के शासन में देश में टीबी और टिटनेस की दवा को आने में वर्षों लग गए. लेकिन, पीएम मोदी के नेतृत्व में देश में कोरोना का पहला मामला दर्ज होने के नौ महीने के भीतर दो वैक्सीन बनकर तैयार हो गई. आज भारत मात्र दो वर्षों में 220 करोड़ वैक्सीन डोज लगाकर आने वाले समय के लिए तैयार हो गया है. विपक्ष के नेता इस स्वदेशी वैक्सीन पर आक्षेप लगाकर जनता को गुमराह करते थे, लेकिन वैक्सीन मैत्री के तहत यही वैक्सीन पीएम मोदी ने 100 देशों को पहुंचाई, जिनमें 48 देशों को मुफ्त में वैक्सीन दी गई.

भाजपा सरकार में भारतीय अर्थव्यवस्था के मजबूत होने पर जेपी नड्डा ने कहा कि कोविड और रूस-यूक्रेन युद्ध के बाद लगभग हर देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गई थी, परंतु भारत एकमात्र देश है, जिसे अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने ब्राइट स्पॉट करार दिया है. दूसरी ओर विपक्ष बेरोजगारी और महंगाई जैसे आरोप लगाकर जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रहा है.

भाजपा अध्यक्ष के कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव, प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा सहित राज्य सरकार के कई मंत्री और संबंधित क्षेत्रों के उम्मीदवार भी मौजूद रहे.

एसएनपी/एबीएम